Uric acid in Hindi | यूरिक एसिड (uric acid) के 21 नए बेस्ट इलाज इन हिंदी।

Uric acid in Hindi | यूरिक एसिड (uric acid) के 21 सबसे बेस्ट इलाज इन हिंदी (best Food & treatment for uric acid in Hindi) - यूरिक एसिड की मात्रा पूरी तरह हमारे खानापान पर निर्भर होती है।
जब हमारा खानपान संतुलित नहीं होता तो आहिस्ता आहिस्ता यूरिक एसिड की मात्रा रक्त में बढ़ने लगती है।
और जब हमारे खून में इसकी मात्रा अधिक हो जाती है तो यह हमारे जोड़ों में जाकर इकठ्ठा होती है और कई तरह की हड्डियों से जुड़ी दर्दनाक बीमारियों में तब्दील हो जाती है।
यूरिक एसिड की इस बढ़ी हुई मात्रा को हाइपरयुरिसिमिया के नाम से भी जाना जाता है।
यूरिक एसिड की बढ़ी हुई मात्रा हमारे जोड़ों को तो प्रभावित करती ही है साथ ही यह रक्त, हृदय और किडनी से संबधित कई समस्याओं के लिए भी एक जिम्मेदार कारण बन जाती है।
सामान्य तौर पर हमारी दोनों किडनियों के माध्यम से यूरिक एसिड का रक्त में संतुलन रखा जाता है।
Uric acid in Hindi
Uric acid in Hindi.
लेकिन रक्त में इसकी मात्रा बढ़ने पर किडनियां भी इसे पूरी तरह संतुलित नहीं रख पाती हैं, और तक यह ठोस के रूप में जोड़ों में जाकर जमा हो जाता है।
सामान्य रूप से प्यूरीन का सही से मेटाबॉलिज्म ना होने की स्थति में यह समस्या पैदा होती है जो कि पूरी तरह हमारे खानपान से जुड़ी है।
(और पढ़ें : गठिया के लिए बेस्ट इलाज)

Uric acid in Hindi | यूरिक एसिड (uric acid) के 21 सबसे बेस्ट इलाज इन हिंदी (best food & treatment for uric acid in Hindi)

यूरिक एसिड बढ़ने के कारण इन हिंदी (Causes of heigh uric acid in Hindi)

यूरिक एसिड की समस्या के लिए कई सारे कारण जिम्मेदार हो सकते हैं जिनमें से मुख्य हैं -
  1. अनुवांशिकता - अगर आपके परिवार में माता पिता या सगा कोई यूरिक एसिड की समस्या से प्रभावित है तो हो सकता है आपको भी इसका सामना करना पड़े।
  2. अगर आप पेशाब वर्धक यानी Diuretics का ज्यादा इस्तेमाल करते हो तो यह भी यूरिक एसिड के लिए एक जिम्मेदार कारण बन सकती हैं।
  3. एल्कोहल का ज्यादा प्रयोग करने की वजह से भी आपमें यह समस्या घर कर सकती है।
  4. प्रतिरक्षा को दबाने या प्रभावित करने वाली दवाएं भी यूरिक एसिड के लिए जिम्मेदार हो सकती हैं।
  5. ज्यादा शुगर और प्रोटीन वाला खाना जैसे दाल, चांवल, सोयाबीन, और नॉनवेज आदि के कारण भी आपको यूरिक एसिड हो सकता है।
  6. मोटापा भी यूरिक एसिड को बढ़ाने वाला एक बड़ा कारक हो सकता है।
  7. थायरॉयड की कम या अधिक स्थति इसके लिए जिम्मेदार कारण बन सकती है।
  8. विटामिन बी 3 की अधिकता भी यूरिक एसिड का कारण हो सकता है।
  9. किडनी में होने वाली समस्याओं की वजह से भी यह समस्या पैदा हो सकती है।

बढ़े हुए यूरिक एसिड के लक्षण इन हिंदी (Symptoms of heigh uric acid in Hindi)

शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने पर हो सकता है आपको शुरुआत में किसी भी प्रकार का कोई लक्षण ना दिखें।
लेकिन समय के साथ साथ जब इसकी मात्रा बढ़ती जाती है तो कई तरह के लक्षण दिखाई पड़ते हैं जिनमें से मुख्य हैं -
  • जोड़ों में संक्रमण
  • गाउट
  • दाएं कंधे में ज्यादा दर्द
  • जोड़ों में अकड़न
  • तलवों और हथेलियों में चुभन
  • चलने पर कांटे जैसा लगना
  • जोड़ों की ऊपरी त्वचा में लालपन
  • हाथ और पैरों के जोड़ों में दर्द रहना
  • जोड़ों की गति निश्चित होना
  • गंभीर स्थति में घाव बन जाना
आदि यूरिक एसिड के मुख्य लक्षण हो सकते हैं।
Uric acid in Hindi
Uric acid in Hindi.

Uric acid in Hindi | यूरिक एसिड (uric acid) का इलाज (treatment for uric acid in Hindi)

इस लेख में हम बात करने वाले हैं 21 ऐसी खाई जाने वाली चीजों की जिनके माध्यम से आप अपने बढ़े हुए यूरिक एसिड को आसानी से सामान्य रूप में ला सकते हो।
इसके आलावा इनके इस्तेमाल से आपको भविष्य में कभी भी हड्डियों से जुड़ी किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।
(और पढ़ें : कमर दर्द का पुख्ता इलाज)

1. हरसिंगार के पत्तों से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

हरसिंगार के पौधे में कई सारे ऐसे गुण मौजूद होते हैं जो आपके यूरिक एसिड को सामान्य रखते हैं और जोड़ों में जमे हुए यूरिक एसिड को धीरे धीरे गला कर निकाल देते हैं।
नियमित रूप से हरसिंगार के पत्तों का ज्यूस बनाकर पिएं।
इससे आपका हाइपरयुरेसिमिया बहुत जल्दी ठीक होगा और आपको इस समस्या से निजात मिलेगी।

2. शाल्लकी गोंद से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

बॉसवेलिया की छाल से निकला हुआ गोंद भी हड्डियों से जुड़ी अनेकों तरह की समस्याओं में रामबाण औषधि की तरह कार्य करता है।
यूरिक एसिड के मरीजों के लिए यह एक बहुत ही बेहतरीन और चमत्कारी औषधि हो सकती है।
अगर आप भी इस समस्या से परेशान हैं तो आपको शल्लाकी गोंद का जरूर सेवन करना चाहिए।
(और पढ़ें : खून बढ़ाने के बेस्ट उपाय)

3. काली किसमिस से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

काली किसमिस आपके रक्त में बढ़े हुए यूरिक एसिड को कम करने में बेहद फायदेमंद होती है।
इसके लगातार सेवन से आपके शरीर में प्युरीन का मेटाबॉलिज्म सही से होता है और हृदय व किडनी जैसे अंगों को ताकत मिलती है।
जब भी आप काली किशमिश का सेवन करें तो एक बात का जरूर ध्यान रखें, कि काली किसमिस बीजों वाली होनी चाहिए।
इसे आप दूध या पानी में भिगो कर सेवन कर सकते हो।
इससे बहुत जल्दी रक्त से यूरिक एसिड की मात्रा कम होगी और इस समस्या से आपको छुटकारा मिल जाएगा।

4. पाइनएप्पल से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

पाइनएप्पल प्रोटीन के मेटाबॉलिज्म में अहम योगदान देता है।
अगर आपके रक्त में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ी हुई है तो इस स्थति में आपको पाइनएप्पल का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।
इसके लगातार सेवन से रक्त में यूरिक एसिड की मात्रा घटकर सामान्य हो जाती है और हमेशा नोर्मल रहती है।
यूरिक एसिड में पाइनएप्पल का इस्तेमाल करने के लिए इसे बीच की डंडी सहित उबाल कर खाएं।
(और पढ़ें : सिर दर्द का करें तुरंत इलाज)

5. इलायची से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

नियमित रूप से इलायची का सेवन करते रहने से भी आपको यूरिक एसिड की समस्या से छुटकारा मिलता है।
यह आपकी मेटाबॉलिक दर में सुधार के साथ साथ रक्त से गर्मी व टॉक्सिक पदार्थ कम करने में बहुत अधिक फायदेमंद है।
इसे आप पानी में भिगो कर या माउथ फ्रेशनर के रूप में इस्तेमाल कर सकते हो।

6. सुपारी से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

सुपारी शुगर और प्रोटीन के मेटाबॉलिज्म में सहायता करती है।
अगर आपके रक्त में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ी हुई है तो आपको नियमित रूप से कुछ मात्रा में सुपारी जरूर खानी चाहिए।
लेकिन अगर आपमें किडनी स्टोन की समस्या है या दांतों से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या है तो सुपारी का इस्तेमाल ना करें।

7. सेब का सिरके से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

सेब के सिरका अनेकों तरह के औषधीय गुणों के कारण बहुत अधिक लोकप्रिय है।
साथ ही यह यूरिक एसिड जैसी समस्याओं के लिए भी बेहद फायदेमंद औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।
अगर आप यूरिक एसिड के मरीज है तो नियमित रुपए खाली पेट आपको सेब के सिरके का जरूर सेवन करना चाहिए।
कुछ ही दिनों के लगातार सेवन से आपका यूरिक एसिड गल कर निकल जाता है।

8. लहसुन से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

आयुर्वेद में लहसुन को भी अनेकों तरह की दवाओं में एक रामबाण दवा के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है।
यह आपमें हृदय, किडनी और रक्त से जुड़ी तमाम समस्याओं में बेहद लाभकारी है।
रक्त में यदि यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ी हुई है तो इसके लिए सुबह शाम खाली पेट एक कली लहसुन जरूर इस्तेमाल करें।
अगर आप चबा कर लहसुन का सेवन करते हो तो यह रक्त में तेजी उठाता है, इसके लिए इसे चबा कर खाने की बजाय कैप्सूल की तरह निगलें।
रोजाना लहसुन की एक कली निगलने से आपका यूरिक एसिड धीरे धीरे जोड़ों से गल कर निकल जाता है।
(और पढ़ें : शुगर का सबसे बेहतर इलाज)

9. गिलोय और निर्गुंडी से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

यूरिक एसिड के लिए गिलोय और निर्गुंडी का काढ़ा भी बहुत अधिक लाभदायक होता है।
गिलोय के ज्यूस में निर्गुंडी के पत्तों का रस मिलाकर काढ़ा तैयार करें और सुबह शाम खाली पेट इसका इस्तेमाल करें।
रोजाना इसके सेवन से गंभीर से गंभीर यूरिक एसिड की समस्या में बहुत जल्दी सुधार आता है।
इसके अलावा जोड़ों व हड्डियों से जुड़ी अनेकों समस्याओं के साथ यह आपकी त्वचा, किडनी, रक्त और हृदय की समस्याओं में भी प्रभावी ढंग से काम करता है।
Uric acid in Hindi
Uric acid in Hindi.

10. मैथीदाने से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

डायबिटीज के मरीजों के लिए मैथीदाने प्रभावी और अचूक दवा है।
क्योंकि मैथीदाने के सेवन से आपमें प्रोटीन और शुगर का मेटाबॉलिज्म बेहतर होता है।
जिससे शुगर और यूरिक एसिड जैसी समस्याएं आसानी से ठीक हो जाती हैं।
यूरिक एसिड में इसका इस्तेमाल करने के लिए रातभर इसे पानी में भिगोकर रखें और सुबह खाली पेट चबा चबा कर खाएं।
मैथीदाने के सेवन से आपको यूरिक एसिड और शुगर में बहुत ही कम समय अच्छा सुधार देखने को मिलता है।

11. तुलसी से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

यूरिक एसिड के लिए तुलसी के पत्तों का काढ़ा बनाकर इस्तेमाल किया जाता है।
इससे आपके मेटाबॉलिज्म में प्रबल सुधार आता है और यूरिक एसिड जैसी कई सारी समस्याएं जड़ से खत्म हो जाती हैं।
रोजाना तुलसी से 6 से 7 पत्तों का काढ़ा बनाकर बनाकर जरूर पिएं।
(और पढ़े : हाइट बढ़ाने का अचूक तरीका)

12. नारियल पानी से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

नारियल पानी प्रोटीन के मेटाबॉलिज्म के लिए ज्यादा प्रभावी होता है।
साथ ही यह आपके जोड़ों में जमें हुए यूरिक एसिड को निकालने में बेहद लाभकारी होता है।
अगर आप यूरिक एसिड की समस्या से परेशान हैं तो आपको नियमित रूप से नारियल पानी जरूर पीना चाहिए।
दोपहर में नारियल पानी का इस्तेमाल करने से बचें।

13. पालक से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

पालक में आयरन व ग्रीन प्रोटीन की अधिकता पाई जाती है।
साथ ही यह प्रोटीन के मेटाबॉलिज्म में बेहद उपयोगी है।
यूरिक एसिड के मरीजों को हफ्ते में दो से तीन बार पालक का ज्यूस बनाकर जरूर पीना चाहिए।
इसके आलावा अगर आप पालक को पकाकर खाते हो तो यह आपके लिए ज्यादा प्रभावी होगा।

14. गाजर से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

गाजर भी प्रोटीन के मेटाबॉलिज्म में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।
जिन लोगों में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ी हुई है उन्हें गाजर जरूर खानी चाहिए।
यूरिक एसिड में आप गाजर को कच्चा खाने की बजाय उबालकर या सब्जी के रूप में इस्तेमाल करें।
(और पढ़ें : बवासीर का सबसे बेस्ट इलाज)

15. अरंडी से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

अरंडी आपकी पाचन संबंधी तमाम समस्याओं में सुधार लाने के साथ साथ प्युरीन के मेटाबॉलिज्म को बेहतर करती है।
यूरिक एसिड के लिए अरंडी के गूदे का हलवा बनाकर इस्तेमाल किया जाता है।

16. गोखरू से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

यूरिक एसिड में यदि आप गोखरू की जड़ और इसके फल का इस्तेमाल करते हो तो यह आपको बहुत अधिक लाभ देगा।
इसके लगातार सेवन से यूरिक एसिड की गंभीर से गंभीर समस्या में बेहतर सुधार देखने को मिलता है।
नियमित रूप से इसकी जड़ व फल का चूर्ण बनाकर शहद के साथ सुबह खाली पेट इस्तेमाल करें।

17. कंटकारी से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

कंटकारी जिसे हम कटेली के नाम से भी जानते हैं।
यह एक कांटेदार पौधा होता है जो हड्डियों से जुड़ी तमाम समस्याओं में अचूक औषधि की भांति काम करता है।
यूरिक एसिड के मरीज को रोजाना कंटकारी के पत्तों का रस गर्म करके पीना चाहिए।
इससे यूरिक एसिड की गंभीर समस्या भी आसानी से ठीक हो जाती है।
(और पढ़ें : सफेद दाग का अचूक इलाज)

18. गूग्गल से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

गूग्गल यूरिक एसिड की समस्या को जड़ से खत्म करने के लिए बहुत ही प्रभावी औषधि है।
यूरिक एसिड के लिए सुबह खाली पेट एक चुटकी गूग्गल पानी में घोल पिएं, इसके इस्तेमाल से कुछ ही समय में यूरिक एसिड की समस्या बहुत जल्दी ठीक हो जाती है।
गर्भवती महिला को गूग्गल का इस्तेमाल बिल्कुल नहीं चाहिए।

19. प्याज से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

प्याज का रस भी यूरिक एसिड को खत्म करने के साथ साथ आपकी त्वचा, बाल और आंखो की सेहत के लिए काफी फायदेमंद है।
यूरिक एसिड के लिए प्याज के रस में शहद मिलाकर खाएं, इससे यूरिक एसिड में प्रभावी सुधार आता है।

20. कद्दू से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

यूरिक एसिड में कद्दू को उबाल कर खाना चाहिए इससे प्युरीन का मेटाबॉलिज्म बेहतर ढंग से होता है।
साथ ही साथ जोड़ों में जमा हुआ यूरिक एसिड बहुत जल्दी साफ हो जाता है।
रोजाना सुबह खाली पेट कद्दू के गूदे को उबालकर खाएं।
(और पढ़ें : प्रेग्नेंसी के शुरुआती लक्षण)

21. चुकंदर से यूरिक एसिड का इलाज इन हिंदी -

चुकंदर भी यूरिक एसिड वाले मरीजों के लिए एक प्रभावी औषधि हो सकती है।
रोजाना चुकंदर सलाद के रूप में लेते रहने से धीरे धीरे यूरिक एसिड की समस्या पूरी तरह खत्म हो जाती है।

यूरिक एसिड को बढ़ने से कैसे रोकें (prevention of uric acid in Hindi)

यूरिक एसिड की समस्या पूरी तरह हमारे खानपान पर निर्भर होती है, अतः इस समस्या को बढ़ने से रोकने के लिए हमें अपने खानपान में सुधार करने के साथ साथ कई सावधानियां बरतनी पड़ती हैं जैसे -
  1. ज्यादा प्रोटीन युक्त खानपान जैसे सोयाबीन, दाल, चांवल, राजमा और नॉनवेज आदि से परहेज़ रखना चाहिए।
  2. Diuretics का लगातार लंबे समय तक इस्तेमाल ना करें।
  3. अपने वजन को हमेशा नियंत्रण में रखने की कोशिश करें ताकि यूरिक एसिड के अलावा भी शुगर जैसी कई समस्याओं से बचा जा सके।
  4. नियमित रूप से योग प्राणायाम और सैर सपाटा जरूर करें।
  5. एल्कोहोल आदि के सेवन से हमेशा बचे रहने का प्रयास करें।
  6. समय पर खाएं व पाचन तंत्र को हमेशा सुचारू रखें।
  7. बाजारू खाद्य पदार्थों से हमेशा अपने आप को बचाएं रखें।
  8. रक्त शुद्ध करने वाले खाद्य पदार्थ जैसे अदरक, शहद और नीम आदि का सेवन जरूर करें।
  9. कट्टे पदार्थों को अपने खानपान में जरूर शामिल करें।

Tags -

Uric acid in Hindi,
यूरिक एसिड का इलाज,
Treatment of uric acid in Hindi,
Foods for uric acid in Hindi,

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें