कमर दर्द का पुख्ता घरेलू इलाज | kamar dard ka ilaj in hindi/ back pain

कमर दर्द का पुख्ता घरेलू इलाज | kamar dard ka ilaj in hindi / back pain - कमर दर्द की अगर बात की जाए तो आज के समय में लगभग 90% महिलाएं इस समस्याएं से पीड़ित हैं।
आज की जीवनशैली और खानपान ही इस तरह का है कि एक स्वस्थ व्यक्ति भी आसानी से कई तरह की समस्याओं से घिर जाता है।
दुनियाभर में आधे से ज्यादा लोग अधेड़ उम्र में कमर दर्द की समस्या से जरूरत परेशान होते हैं।

क्योंकि यह समस्या खासतौर पर हमारे रहन सहन, खानपान और चल चलन पर पूरी तरह निर्भर करती है।
यह समस्या पुरुषों और जवान महिलाओं की अपेक्षा अधेड़ यानी 40 साल से अधिक उम्र की महिलाओं में अधिक होती है।
साथ ही महिलाओं में 40 के बाद रजोनिवृती के कारण भी यह समस्या अधिक देखने को मिलती है।
Kamar dard ka ilaj
Kamar dard ka ilaj
आमतौर पर देखा जाए तो कमर दर्द कई कारणों से हो सकता है, उसी आधार पर इसका उपचार किया जाता है।
अतः सबसे पहले यह जानना जरूरी हो जाता है कि हमको यह दर्द किस प्रकार का है और किस वजह से है।
यकीन मानिए इस लेख में हमने कुछ नुस्खे ऐसे बताए हैं जिनका यदि आप एक बार इस्तेमाल कर लेते हो तो हमें पूरी उम्मीद है कि आपका कमर दर्द 100% खत्म हो जाएगा।

अगर आप वाकई में चाहते हो कि आपका कमर दर्द बिल्कुल ठीक हो जाए, तो इसके लिए आपको यह लेख शुरू से लेकर अंत तक ध्यान से पड़ना होगा।
बताए गए ये सभी उपचार अपने आप में सर्वश्रेष्ठ हैं, इनमें से आप किसी भी नुस्खे का प्रयोग कर सकते हो।
इस लेख के अंदर हम बात करने वाले हैं - कमर दर्द का अनोखा इलाज, Kamar dard ka ilaj in hindi, kamar dard ka yoga, kamar dard Ka karn, kamar dard ke lakshan आदि।
(और : गोरा होने का उपाय)

कमर दर्द का पुख्ता घरेलू इलाज | kamar dard ka ilaj in hindi / back pain.

महिलाओं में कमर दर्द के कारण (kamar dard ke karan) -


अगर कमर दर्द के कारणों कि बात की जाए तो यह कई वजहों से किसी में भी हो सकती है। मुख्य रूप से कमर दर्द निम्न कारणों से हो सकता है -
  1. बोन डेंसिटी कम हो जाने की वजह से।
  2. कार्टिलेज के घिस जाने के कारण।
  3. अचानक हुई गतिविधि या किसी मोच आदि से
  4. हड्डियों में जकड़न के कारण।
  5. रीड की हड्डी में किसी भी प्रकार के संक्रमण की वजह से।
  6. सोने की स्थति बेढंग होने की वजह से।
  7. मसल्स में खिंचाव की वजह से।
  8. कमर में किन्हीं हड्डियों के विकार के संबंध में।
  9. तंत्रिका संबंधी विकार के कारण।
आदि कारणों की वजह से आपने कभी भी कमर दर्द की समस्या हो सकती है।
Kamar dard ka ilaj

कमर दर्द के लक्षण क्या हैं (kamar dard ke lakshan) -

वैसे तो कमर दर्द को कमर में होने वाले दर्द से आसानी से पहचाना का सकता है।
लेकिन इसके साथ ही कुछ और प्रकार के लक्षण हैं जिनसे कमर दर्द व उसकी स्थति का पता चलता है।
  1. कमर दर्द वाले हिस्से में सूजन आना।
  2. बॉडी के टेंप्रेचर में वृद्धि होना।
  3. पेल्विक भागों का सुन्न हो जाना।
  4. निचले हिस्सों जैसे पैरों तक दर्द का विस्तार होना।
आदि कमर दर्द के लक्षण हो सकते हैं जो इसके प्रकार और स्थति को बयां करते हैं।

कमर दर्द का बेस्ट इलाज बताइए | back pain in hindi.

यहां बताए जा रहे सभी नुस्खे और योग प्राणायाम कमर दर्द को असरदार तरीके से बहुत कम समय में खत्म करने वाले सबसे बेहतरीन उपचार हैं।
हमें पूरी उम्मीद है कि इनमें से हर नुस्खा आपके लिए रामबाण औषधि की तरह कार्य करेगा।
अतः इन्हें ध्यान पूर्वक पढ़ें और अपनाएं आपको जरूर सकारात्मक परिणाम मिलेगा।

1. लहसुन है कमर दर्द का घरेलू नुस्खा -

कमर दर्द के इलाज सहित लहसुन को अन्य कई बीमारियों में औषधीय रूप में इस्तेमाल किया जाता है।
यह एक बहुत ही बेहतरीन औषधि है जिसे लोग पुराने समय से ही अपने भोजन में जायका लाने के लिए इस्तेमाल करते हैं।
(और : सफेद दाग का इलाज)

क्या चाहिए -

  • 12 से 15 लहसुन की कली
  • 10 से 20 ग्राम सरसों का तेल
  • 15 से 30 ग्राम तिल का तेल
  • 20 ग्राम नीलगिरी का तेल

कैसे बनाए -

इसे बनाने के लिए सबसे पहले लहसुन की कलियों को छीलकर अच्छे से कूट लें।
इसके बाद एक कढ़ाई में बताए गए तेल इसी मात्रा में लेकर डाल लें और गर्म करें।
जब ये तेल अच्छे से पक जाए तब इसे हल्का ठंडा होने दें।
थोड़ा बहुत ठंडा होने के बाद इसमें कूटी हुई लहसुन डालकर फिर पकाएं।
जब लहसुन पककर काला पड़ जाए तब इसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें।
ठंडा होने पर इसे एक कांच की शीशी में डाल कर रख लें।

कैसे इस्तेमाल करें -

बनाए गए तेल को इस्तेमाल करना आसान है जब भी आपको कमर दर्द या किसी भी प्रकार का जोड़ों का दर्द, जमक या मोच का दर्द हो, इस तेल की धूप में बैठकर अच्छे से मालिश करें। इससे आपके दर्द में आपको तुरंत राहत मिलेगी।

2. मदार और धतूरे से कमर दर्द का देसी इलाज -

धतूरा एक औषधीय पौधा है जिसमें कई प्रकार के चमत्कारी गुण मौजूद होते हैं।
यह कई रोगों में इस्तेमाल की जाने वाली औषधि है, बहुत से लोग इसका उपयोग एक नशीले पदार्थ के रूप में करते हैं।
आपकी कमर दर्द के लिए यह नुस्खा इतने बेहतर ढंग से कार्य करता है कि एक बार के इस्तेमाल के तुरंत बाद ही आपको इसका असर देखने को मिल जाएगा।

क्या चाहिए -

  • 40 से 50 ग्राम धतूरे के पत्ते
  • 50 से 60 ग्राम मदार या आक के पत्ते
  • 45 से 55 ग्राम अरंडी के पत्ते
  • 500 ग्राम तिल का तेल

कैसे बनाए -

सबसे पहले धतूरे, मदार और अरंडी के पत्तों को अच्छे से कूट पीस कर इनका रस निकाल लें।
इसके बाद तिल के तेल को गर्म करें।
जब यह अच्छे से पक जाए तब इसे हल्का ठंडा होने दें
हल्का सा ठंडा हो जाए तब इसमें सभी पत्तों का रस डाल कर फिर से गर्म करें और अच्छे से पकाएं।
अच्छी तरह पक जाने के बाद इसे ठंडा करके एक कांच की शीशी में भर कर रख लें।

कैसे इस्तेमाल करें -

कमर दर्द के इलाज के लिए बनाया गया यह तेल बहुत ही असरदार है।
इसकी रात को सोते समय या सुबह की हल्की धूप में अपनी कमर पर रगड़ रगड़ मसाज करें।
इसके एक बार के इस्तेमाल से आप पाओगे की आपका कमर दर्द खत्म होने लगा है।
लगातार कुछ दिनों तक इसका इस्तेमाल करें, इससे आपका कमर दर्द एकदम ठीक हो जाएगा।
Kamar dard ka ilaj

3. कमरकस से बैक पेन का इलाज -

कमर दर्द के इलाज के लिए आयुर्वेद में कमरकस का भी इस्तेमाल किया जाता है।
कमरकस से बनने वाली औषधि बहुत ही बेहतरीन औषधि होती है।
इसकी मदद से आप पुराने से पुराना और भयंकर से भयंकर कमर दर्द कुछ ही दिनों में हमेशा हमेशा के लिए ठीक कर सकते हो।
(और : बवासीर का इलाज)

क्या चाहिए -

  • 2 से 3 चम्मच कमरकस
  • 8 से 10 चम्मच भुने हुए चने का पाउडर
  • 3 से 4 चम्मच देसी घी
  • 4 से 5 चम्मच बूरा

कैसे तैयार करें -

इसे तैयार करने के लिए सबसे पहले 8 से 10 चम्मच भुने हुए चने का पाउडर बनाकर एक बर्तन में रख लें।
इसके बाद एक कढ़ाई में 3 से 4 चम्मच घी और 2 से 3 चम्मच कमरकस डाल कर इसे पकाएं।
ध्यान रहे कमरकस जलने न पाए, हल्का सा पकाने के बाद इसे ठंडा कर लें।
इसके बाद घी और कमरकस के पके हुए मिश्रण को भुने हुए चने के पाउडर में डाल कर अच्छे से मिलाएं।
और ऊपर 4 से 5 चम्मच बूरा डालकर एकसार करें और एक एयरटाइट जार में भरकर रख लें।

कैसे इस्तेमाल करें -

इस्तेमाल आपको सुबह खाली पेट और शाम को खाने से 2 घंटे पहले एक चम्मच की मात्रा में करना है।
सुबह और शाम इसे आप गर्म दूध के साथ ले सकते हो।

4. गिलोय से कमर में दर्द का आयुर्वेदक इलाज -

कमर दर्द में गिलोय भी एक बहुत ही असरदार दवा है।
इसके लिए आपको गिलोय के ज्यूस की आवश्यकता होती है।
अगर आप चाहे तो इसे मार्केट से भी खरीद सकते हो यह आपको गिलोय सत्व के नाम से मिल जाता है।
(गिलोय खरीदने के लिए क्लिक करें - BUY NOW)

क्या चाहिए -

  • 200 ग्राम गिलोय के पत्ते
  • 1/2 चम्मच सौंठ का पाउडर
  • 2 चम्मच मिश्री

कैसे बनाएं -

इसे तैयार करने के लिए सबसे पहले गिलोय के पत्तों को मिक्सी में चलाकर इनका ज्यूस निकाल लें।
इसके बाद इसे छान कर इसमें आधा चम्मच सौंठ का पाउडर और स्वादानुसार मिश्री मिलाकर पिएं।
गिलोय के ज्यूस का लगातार इस्तेमाल भी आपकी कमर दर्द के लिए बहुत ही अच्छा इलाज है।
(और : खून बढ़ाने का उपाय)

5. मेथीदाने से कमर दर्द होगा दूर बाबा रामदेव -

कमर दर्द के इलाज के लिए मेथीदाना भी एक बहुत बेहतरीन औषधि है।
मैथीदाने का इस्तेमाल डायबिटीज और ल्युकोरिया जैसी कई बीमारियों में एक बेहद लाभकारी औषधि के रूप में किया जाता है।
अगर आप चाहते हो कि आपके कमर दर्द का इलाज बेहतर ढंग से हो तो इसमें मेथीदाना भी बहुत लाभकारी है।

क्या चाहिए -

  • 50 ग्राम मेथीदाना
  • 1 गिलास पानी

कैसे बनाए -

इस नुस्खे को तैयार करने के लिए सबसे पहले आपको 15 से 25 ग्राम मेथी दाना लेना होगा।
इसके बाद इन्हें किसी कपड़े की सहायता से अपनी कमर के उस हिस्से में बांधना है जहां पर दर्द है।
इससे आपको थोड़ी देर में राहत मिल जाएगी।
क्योंकि इसमें मैग्नेटिक शक्ति होती है, जो आपके दर्द को कुछ ही देर में शांत कर देती है।
आपको कहीं भी दर्द हो उसके लिए एक कपड़े में मेथीदाना लेकर दर्द वाले हिस्से में बांध लें।
इसके अलावा कुछ मात्रा में मेथीदाना लेकर इन्हें एक गिलास पानी में भिगो कर रख दें।
जब ये दाने अच्छे से भीग जाए तब आप उस पानी को पी लें और भीगे हुए दाने धीरे धीरे खा लें।
या फिर इसकी जगह आप इसे गर्म करके भी इस्तेमाल कर सकते हो।
सबसे पहले मैथीदाने सहित यह पानी गर्म कर लें और जब यह आधा रह जाए तब इसे हल्का गर्म हो पी जाए और बचे हुए मैथीदाने खा लें।
(और : अनुलोम विलोम कैसे करें)
Kamar dard ka ilaj

6. गोंद है कमर दर्द का अचूक इलाज इन हिंदी -

कमर दर्द के इलाज के लिए बबूल का गोंद भी एक बहुत ही अच्छी औषधि है।
इसका इस्तेमाल भी अनेकों तरह की दवाओं में एक लाभकारी औषधि के रूप में किया जाता है।
इसका इस्तेमाल करके आप आसानी से पुराने से पुराना कमर दर्द कुछ ही दिनों में ठीक कर सकते हो।

क्या चाहिए -

  • 300 ग्राम बबूल का गोंद
  • 100 से 150 ग्राम खतीरा
  • 50 से 60 ग्राम घी

कैसे तैयार करें -

इसे तैयार करने के लिए सबसे पहले आपको एक कढ़ाई में 50 से 60 ग्राम घी लेकर इसे गर्म करना है।
इसके बाद इसमें बबूल का गोंद और खतीरा डाल कर अच्छे मिलाए और गर्म होने दें।
जब यह गोंद और खतीरा फूल जाएं और पक जाएं तब इन्हें ठंडा करके मिक्सी की मदद से अच्छे से बारीक पीस लें। और किसी एयरटाइट डब्बे में डाल कर रख लें।

कैसे इस्तेमाल करें -

बनाई गई इस औषधि का इस्तेमाल एक चम्मच की मात्रा में सुबह शाम दूध के साथ करें।
सुबह खाली पेट कच्चे दूध के साथ और शाम को खाना खाने के एक घंटे बाद गर्म दूध के साथ लें।
कुछ ही दिनों में इनके इस्तेमाल से आपका कमर दर्द बिल्कुल गायब हो जाएगा।

7. ग्वारपाठा कमर दर्द का रामबाण इलाज -

कमर दर्द के इलाज में ग्वारपाठा का इस्तेमाल करना भी आपके लिए एक बेहद फायदेमंद उपचार हो सकता है।
ग्वारपाठा जिसे हम सामान्यतया एलोवेरा के नाम से भी जानते हैं इसे चेहरे की सुंदरता और रंग निखारने के साथ साथ बालों की अच्छी सेहत सहित अन्य कई गुणों के कारण भी इस्तेमाल किया जाता है।
मार्केट में एलोवेरा का ज्यूस और जैल दोनों आपको आसानी से मिल जाते हैं।
लेकिन यहां कमर दर्द के इलाज के लिए हमें इसके गुदे का इस्तेमाल करना है।
यकीन मानिए कमर दर्द के लिए यह भी एक बहुत ही बेहतरीन नुस्खा है जिसकी मदद से आप आसानी से पुराने से पुराने कमर दर्द को आसानी से खत्म कर सकते हो।
(और : वजन बढ़ाने का तरीका)

क्या चाहिए -

  • 250 ग्राम एलोवेरा का गूदा
  • 1 किलो ग्राम गेहूं का आटा
  • 500 ग्राम चीनी या मिश्री
  • 350 ग्राम देसी घी

कैसे बनाए -

इस नुस्खे को बनाना बहुत ही आसान है, इसके लिए ऊपर बताई गई सभी चीजों की जरूरत होगी।
इसे तैयार करने के लिए सबसे पहले एलोवेरा की ताजा पत्तियों से 250 ग्राम के लगभग इसका गुदा निकाल लें और बारीक कर लें।
इसके बाद एक कड़ाई में 20 से 30 ग्राम घी डालकर पकाएं।
जब यह पक जाए तो इसमें एक किलो गेहूं का आटा मिलाकर इसकी सिकाई करें।
आटा जब अच्छे से सिक जाए तब इसमें इतना पानी मिलाए की यह थोड़ा टाइट सीरा बन जाए।
सीरा सूखने लगे तब इसमें एलोवेरा का गुदा और बाकी बचा घी मिलाकर अच्छे से पकाएं।
अच्छे से पक जाने पर इसमें चीनी या मिश्री डालकर अच्छे से घोटें।
खूब घोटने के बाद जब यह टाइट हो जाए तो इसे ठंडा करके 25 - 25 ग्राम के लड्डू बनाकर रख लें।

कैसे इस्तेमाल करें -

इन लड्डुओं का इस्तेमाल सुबह शाम खाली पेट करें।
रोज सुबह खाली पेट एक लड्डू और शाम को खाने से एक से दो घंटे पहले एक लड्डू इस्तेमाल करें।
इसके अलावा आप सामान्य रूप से इसके लड्डू बनाकर भी खा सकते हो।
इसके लिए सबसे पहले आटे को घी में पका लें, इसके बाद इसे आग से उतारकर इसमें एलोवेरा का गुदा, घी और बूरा मिलाकर लड्डू बना लें।
यदि आप नियमित रूप से इसका इस्तेमाल करते हो तो कुछ ही दिनों में भयंकर से भयंकर और पुराने से पुराना कमर दर्द जाता नजर आएगा।

8. अदरक है कमर दर्द का घरेलू उपचार

कमर दर्द के इलाज में अदरक भी अपनी अहम भूमिका अदा करती है।
यह कमर दर्द के साथ साथ कई प्रकार से औषधीय रूप में भी काम ली जाती है।
(और : कब्ज का इलाज)

क्या चाहिए -

  • 50 ग्राम अदरक
  • 20 ग्राम सौंठ
  • 2 चम्मच शहद

कैसे बनाए -

इस नुस्खे को तैयार करने के लिए सबसे पहले अदरक को अच्छे से कूट पीट कर बारीक कर लें।

कैसे इस्तेमाल करें -

इस्तेमाल करने के लिए इस पेस्ट को कमर में दर्द वाली जगह पर फैला दें।
इससे आपको कमर दर्द में बहुत जल्दी राहत मिलती है।
साथ ही एक कटोरी में डेढ़ से दो चम्मच सौंठ का पाउडर लेकर इसमें दो से तीन चम्मच शहद डाल कर अच्छे मिलाएं और इसे चाट लें। यह भी आपको दर्द में राहत देगा।

9. जायफल से कमर दर्द का घरेलू उपाय -

जायफल का इस्तेमाल भी आयुर्वेद में अनेकों तरह की औषधियों को तैयार करने में किया जाता है।
कमर दर्द का इलाज करने के लिए जायफल बहुत ही असरदार तरीके से काम करता है।
इसके इस्तेमाल के बाद आपका कितना भी पुराना कमर दर्द हो वह आसानी से ठीक हो जाता है।

क्या चाहिए -

  • 1 जायफल
  • 1/2 कप सरसों का तेल

कैसे बनाएं -

इस नुस्खे को तैयार करना बहुत ही आसान है, इसके लिए सबसे पहले एक जायफल की जरूरत होगी।
जायफल को पीस कर बारीक पाउडर बना लें।
इसके बाद आधा कप सरसों का तेल गरम करें।
तेल गरम होने के पश्चात इसमें जायफल का पावडर डालकर ठंडा करलें और कांच की शीशी में भर कर रह लें।

कैसे इस्तेमाल करें -

इसका इस्तेमाल आप रात को सोते समय या सुबह हल्की धूप बैठकर करें।
कमर में दर्द वाली जगह पर इस तेल की अच्छे से मालिश करें। 
इससे आपको कमर दर्द में तुरंत आराम मिलेगा।
लगातार इस्तेमाल से पुराने से पुराना कमर दर्द हमेशा के लिए खत्म हो जाता है।
(और : गठिया का इलाज)
Kamar dard ka ilaj



10. कमर दर्द के लिए एक्यूप्रेशर पॉइंट -

कमर दर्द में यदि आप इक्युप्रेशर पॉइंट्स को दबाते हो तो इनसे आपको तुरंत आराम मिलता है।
इस तरह आपको न तो किसी प्रकार की दवा की जरूरत होती और न ही किसी नुस्खे की।
यदि आपकी कमर में दर्द है तो इसके लिए सबसे पहला पॉइंट्स हमारे अंगूठे और अंगूठे के पास वाली पहली उंगली, इनके बीच वाली जगह होती है।
दोनों हाथों में इस जगह को कुछ कुछ देर दबाकर छोड़ें।
इससे आपको अपने दर्द में बहुत ही जल्दी आराम मिलता है।
इसके अलावा आपके हाथ की हथेली में अंगूठे की तरफ उभरा हुआ हिस्सा, हथेली के नीचे कलाई वाला हिस्सा, और उंगलियों का उपरी हिस्सा ये सभी पॉइंट्स दबाने पर आपको कमर दर्द में बहुत जल्दी आराम मिलेगा।
इन सब के अलावा कान में ऊपर वाली उभरी हुई अस्थि दबाने से भी कमर दर्द में तुरंत आराम मिलता है।

11. कमर दर्द के लिए योग बाबा रामदेव -

कमर दर्द के इलाज के लिए योग प्राणायाम बहुत ही अधिक महत्व रखते हैं।
इनकी मदद से पुराने से पुराना कमर दर्द आसानी से ठीक किया जा सकता है।
इसके लिए सबसे अधिक महत्व मर्कटाशन और धनुषाशन को दिया जाता है।
इन दोनों योगासन और स्ट्रेचिंग आसनों की मदद से आप कमर दर्द को बिल्कुल ठीक कर सकते हो।
लेकिन गंभीर स्थति में योग्य प्रशिक्षक की देखरेख में ही ये आसान करें।

कमर दर्द से बचाव और सावधानियां -

कमर दर्द की समस्या हमारे खानपान और रहन सहन जुड़ी होती है।
अधिकतर मामलों में शरीर का पोस्चर ही कमर दर्द के लिए जिम्मेदार कारक होता है।
  1. हमेशा कोशिश करें की आपके शरीर पोस्चर सही रहे।
  2. अपने सोने के ढंग में परिवर्तन करें, ज्यादा तना हुआ और ज्यादा लचक वाला बिस्तर कमर दर्द का कारण बन सकता है।
  3. नियमित रूप से योग प्राणायाम करें, अपनी दिनचर्या में शारीरिक गतिविधि को अधिक स्थान दें।
  4. एक ही जगह पर अधिक देर तक बैठे ना रहें।
  5. अधिक से अधिक पैदल चलने कि कोशिश करें।
  6. हफ्ते में एक बार अपने पूरे शरीर मसाज जरूर करें।
  7. अपने वजन को हमेशा नियंत्रण में रखें और कब्ज आदि की शिकायत ना रहने दें।
(और : पेट कम करने का तरीका)

कमर दर्द के लिए विडियो -

Tags -
कमरदर्द का घरेलू इलाज, Kamar dard ka ilaj in hindi, kamar dard ka yoga, kamar dard medicine name, kamar dard ke lakshan,