7 दिन में तेजी से खून बढ़ाने के 10 उपाय | khoon badhane ke upay.

Khoon badhane ke upay (खून बढ़ाने के उपाय) -  खून की कमी जिसे हम एनीमिया के नाम से भी जानते हैं एक गंभीर स्थति हो सकती है।
आज के समय में पूरी दुनिया में करीब चार अरब लोग इस समस्या के शिकार हैं। भारत में 50 से 60% लोग आज भी इस बीमारी से ग्रस्त हैं।
यह समस्या पुरुषों की बजाय महिलाओ में आमतौर पर देखने को मिल जाती है।
एनीमिया या खून की कमी वह स्थति होती है जब हमारे रक्त में आयरन और हीमोग्लोबिन की मात्रा सामान्य से भी कम हो जाती है।
जिस प्रकार किसी मशीन को कार्य करने के लिए फ्युल की आवश्यकता होती है, उसी प्रकार रक्त के बिना हमारा शरीर भी मृत के समान है।
इसकी अल्पता की स्थति से अनेकों गंभीर समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है।
रक्त का सबसे मुख्य काम हमारे शरीर के सभी अंगों को उनकी जरूरत के आधार पर पोषक तत्व और ऑक्सीजन पहुंचना है।
khoon badhane ke upay
आमतौर पर जब शरीर में खून की कमी होती है तो इसका पता नहीं चल पाता। एक सामान्य दिखने वाले व्यक्ति में भी खून की कमी हो सकती है, और इसका उसे पता भी नहीं होता।
आइए जानते हैं हमारे अंदर खून की कमी या एनीमिया किन किन कारणों की वजह से हो सकता है।
इसके क्या क्या लक्षण हो सकते हैं। और किस प्रकार इसे सामान्य किया का सकता है या खून बढ़ाया जा सकता है।

7 दिन में तेजी से खून बढ़ाने के 10 उपाय | khoon badhane ke upay.

एनीमिया या खून की कमी के लक्षण (anemia ke lakshan) 

आमतौर पर एनीमिया या रक्त की कमी होने पर कई सारे लक्षण दिखाई दे सकते हैं। जिनके आधार पर आप आसानी से पता लगा सकते हो कि आपमें खून की कमी है।
जैसे कि -
  1. हर समय थका हुआ महसूस करना। 
  2. दिल की धड़कनों का तेज होना। 
  3. थोड़ी सी भाग दौड़ या काम करने पर सांस फूलना। 
  4. चक्कर आना। 
  5. बेहोशी की स्थति होना।  
  6. त्वचा का पीला पड़ जाना। 
  7. नाखनों का टूटना। 
  8. जीब में सफेदी आना। 
  9. नजर कमजोर होना। 
  10. कमजोरी महसूस करना। 
  11. सोचने समझने की क्षमता का कम होना। 
  12. सिर में भारीपन। 
  13. उल्टियां आना। 
  14. घबराहट होना। 
आदि सभी लक्षण एनीमिया से ग्रस्त या रक्त की कमी वाले लोगों में आसानी से देखे जा सकते हैं।

एनीमिया या खून की कमी के कारण (animiya ke karn) -

आमतौर पर यदि एनीमिया के कारणों की बात की जाए तो यह सामान्य रूप से भोजन में पोषक तत्वों की कमी के कारण पैदा होता है। इन सब के अलावा खून की कमी कई कारणों से हो सकती है जैसे कि -

अधिक रक्त स्राव -

किसी भी वजह से अगर आपके शरीर से खून बाहर निकल जाता है तो यह स्थति एनीमिया का रूप लेकर उभर सकती है। यह स्थति महिलाओ में आम होती है, उनमें अक्सर पीरियड्स के दौरान ज्यादा रक्त का स्राव आयरन और हीमोग्लोबिन की कमी का कारण बन सकता है। जिसके कारण एनीमिया की स्थति पैदा हो जाती है।

पोषक तत्वों की कमी -

खाएं गए भोजन से यदि आपको पोषण नहीं मिल पा रहा है, तो यह स्थति भी एनीमिया का कारण बन जाती है।
इसमें दो स्थति हो सकती है, एक तो आपके भोजन में ही पोषक तत्व नहीं हो और दूसरी यह कि आपका शरीर खाने से पोषक तत्वों को अवशोषित न कर पा रहा हो।
यह स्थति हमारे पाचन और उपापचय क्रिया में खराबी के कारण होती है।
{और पढ़ें : हाई bp का पक्का इलाज}

विटामिन्स की कमी -

विटामिन्स की कमी के कारण भी आप एनीमिया जैसी गंभीर समस्या के शिकार हो सकते हैं। जिनमें मुख्यत विटामिन बी12 की कमी के कारण एनीमिया की स्थति पैदा होती है।

मेनोपॉज -

महिलाओ में 40 की उम्र के बाद आयरन, हीमोग्लोबिन और विटामिन बी12 की कमी हो सकती है। इसकी वजह से उन्हें खून की कमी या एनीमिया का शिकार होना पड़ सकता है।

लीवर की बीमारियां -

बहुत से लोगों में लीवर की समस्याएं जैसे जॉन्डिस, लीवर सिरोसिस आदि के कारण भी एनीमिया की स्थति का सामना करना पड़ सकता है।

थायरॉयड -

खून की कमी या एनीमिया थायरॉयड वाले मरीजों में भी आसानी से देखने को मिल जाती है।
थायरॉयड की समस्या के चलते रक्त में आयरन और हीमोग्लबिन की मात्रा कम हो जाती है। जिसके कारण एनीमिया या रक्ताल्पता की स्थति पैदा हो सकती है।
इन सभी कारणों से कोई भी व्यक्ति एनीमिया की गंभीर समस्या से ग्रस्त हो सकता है।

एनीमिया के लिए घरेलू नुस्खे - 7 दिन में तेजी से खून बढ़ाने के 10 उपाय।

Khoon badhane ke upay -

अगर आपके शरीर में खून की कमी है तो नीचे बताए गए घरेलू और आयुर्वेदिक नुस्खों का प्रयोग कर आसानी से एनीमिया की समस्या को खत्म कर सकते हो।
अगर आप चाहते हो कि घर पर ही खाए पिए जाने वाली चीजों से एनीमिया या रक्त की कमी को दूर किया जाए, तो जरूर इन नुस्खों का प्रयोग करें।
हमे विश्वास है कि आपको मनचाहा परिणाम जरूर मिलेगा।
{और पढ़ें : हेपेटिटिस का अचूक इलाज}

1. गेहूं घांस -

खून की कमी वाले व्यक्ति को रोज एक गिलास गेहूं घांस या गेहूं ज्वारे का ज्यूस बनाकर पीना चाहिए। इससे बहुत ही तीव्र गति से रक्त की पूर्ति होती है।
गेहूं के ज्वारे के इस ज्यूस में जरूरी विटामिन्स, और मिनरल्स मौजूद होते हैं। जिनके कारण यह अधिक तेजी से हमारे शरीर में रक्त की पूर्ति करता है।
गेहूं घांस का ज्यूस बनाने के लिए हमें गेहूं के कच्चे पौधे की आवश्यकता होगी।
इसके जड़ों वाले हिस्से को काटकर पानी के साथ मिक्सी में चला लें। इसके बाद इसे छानकर थोड़ा सा नींबू निचोड़ कर पिएं।
इससे आपमें हुई रक्त की कमी बहुत जल्दी ठीक हो जाएगी।

2. पालक -

अगर आप चाहें तो पालक का भी प्रयोग कर सकते हो खून की कमी के लिए पालक भी एक बहुत ही अच्छी दवा है।
पालक में सभी जरूरी तत्व मौजूद होने के कारण यह हमारे खून को तीव्र गति से बनने में मदद करता है।
इसे तैयार करने के लिए आपको सबसे पहले ताजा पालक के पत्तों को छोटे छोटे टुकड़ों में काट लेना है। इसके बाद इसे आधा लीटर पानी में उबालना है। उबलने के बाद इसके पानी को अलग कर लें, और छान कर पिएं।
इससे आपमें हुई रक्त की कमी दुगनी तेजी से पूरी होगी। साथ ही आप इसे और भी हल्का बनाने के लिए इसमें एक चम्मच नींबू का रस मिला सकते हो।
इसके अलावा आप कच्चे पालक की पत्तियों का भी प्रयोग कर सकते हो।
इसे सब्जी के रूप में या सूप बनाकर भी इस्तेमाल कर सकते हो।
{और पढ़ें : 1 महीने में वजन घटाने का तरीका}

3. आंवला -

आंवला भी एनीमिया या रक्त की कमी के लिए एक बहुत ही अच्छी औषधि मानी जाती है। यह हमारे शरीर में रक्त की कमी को पूरा करने के साथ साथ हमारे बालों और त्वचा की सेहत के लिए भी काफी सेहतमंद है।
आप चाहे तो खून की कमी को पूरा करने के लिए आंवले के ज्यूस का भी इस्तेमाल कर सकते हो। इसे तैयार करने के लिए सबसे पहले आपको ताजा आंवले का ज्यूस निकालना होगा। इसके बाद इसे छानकर इसमें एक चम्मच शहद और आधी चम्मच नींबू का रस डालकर पीना है।
इस तरह यदि आप कुछ दिनों तक लगातार करते हो तो बहुत ही जल्दी एनीमिया की शिकायत दूर हो जाएगी। और आपको किसी भी प्रकार की कोई दवा की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

4. चुकंदर -

खून की कमी वाले व्यक्ति के लिए चुकंदर भी एक रामबाण औषधि की तरह कार्य करती है।
यदि आप एनीमिया से ग्रस्त हैं तो आपको यह उपाय जरूर करना चाहिए।
इससे आपको बहुत ही जल्दी अपने आप में असर दिखने लगेगा।
इसे प्रयोग में लाने के लिए आपको इसका भी ज्यूस तैयार करना होता है। लेकिन ध्यान रहे एनीमिया के लिए चुकंदर से ज्यादा इसके पत्ते ज्यादा असरदार होते हैं, अतः चुकंदर लेने से पहले देख लें कि वह पत्तेदार हों।
इसके बाद इसे अच्छे से धो कर ज्यूस तैयार करें। इसके बाद इसे छानकर आधा सा नींबू निचोड़ लें और पिएं।
इससे भी आपको बहुत जल्दी अपने आप में असर देखने को मिलेगा। और एनीमिया की शिकायत दूर होगी।
{और पढ़ें : एड्स का पक्का इलाज}

5. अंजीर -

खून की कमी दूर करने के लिए ज्यादातर वैध और आयुर्वेदिक चिकित्सक अंजीर का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं।
इसमें सभी तरह पोषक तत्व और खनिज लवण मौजूद होने की वजह से यह खून की कमी को बहुत ही तीव्र गति से पूरा करता है।
साथ ही अंजीर के इस्तेमाल से हमारे शरीर को ताकत मिलती है। इस नुस्खे को तैयार करने के लिए आपको किसी पंसारी की दुकान से अंजीर लाने होंगे, साथ ही आपको जरूरत होगी मुनक्का की।
रात को सोते समय चार अंजीर और आठ से दस मुनक्का पानी में भिगो कर सोएं।
सुबह उठकर इन्हे पानी से निकाल कर मुनक्का के बीज निकाल लें। इसके बाद इन्हे अच्छे पीस लें, अच्छे से पिस जाने के बाद इनके पेस्ट को एक कटोरी में निकाल लें।
अब इसमें हल्का सा शहद मिलाकर खाएं। आप चाहे तो शहद का इस्तेमाल कर भी सकते हो और नहीं भी कर सकते।
लेकिन इस बात का जरूर ध्यान रखें कि इस नुस्खे का इस्तेमाल करने के एक घंटे बाद तक आपको ना तो कुछ खाना है और ना कुछ पीना है।

6. अनार -

एनीमिया के मरीजों के लिए अनार भी एक बहुत ही अच्छी चमत्कारी औषधि है।
यदि आपके शरीर में खून की कमी है तो आपको अनार का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। इसमें भी सभी तरह के जरूरी पोषक तत्व और खनिज लवण मौजूद होते हैं। जो आपमें हुई रक्त की कमी को बहुत जल्दी पूरा करने की काबिलियत रखते हैं।
इस नुस्खे को तैयार करने के लिए आपको ताजा अनार का ज्यूस निकालना होगा।
इसके बाद निकाले गए ज्यूस में एक गेहूं के दाने की बराबर मात्रा में चूना मिलाकर इसका सेवन करना है। लेकिन ध्यान रहे अगर आप पथरी के मरीज हो तो चूने का इस्तेमाल ना करें।
{और पढ़ें : लिकोरिया का देसी इलाज}

7. सेब -

रक्ताल्पता के लिए सेब के सिरके को बेहद ही उपयोगी और कारगर औषधि माना जाता है।
अगर आपमें खून की कमी पाचन तंत्र के कारण बनी हुई है तो उस स्थति में आप जो भी दवा या घरेलू नुस्खों का प्रयोग करते हो उनका असर बहुत कम हो जाता है।
क्योंकि वह हमारे शरीर में पूरी तरह अवशोषित ही नहीं हो पाता। इस तरह की स्थति में आपको खाना खाने से 30 मिनट पहले सेब के सिरके का प्रयोग पानी में मिलाकर करना चाहिए।
यह आपके अंदर अच्छे बैक्टीरिया की मात्रा  वृद्धि करता है। आप जो भी खाते हो उसका पाचन और अवशोषण अच्छी प्रकार से होता है।

8. एनिमल लीवर -

जिन लोगों को खून की कमी है उन्हें अक्सर नॉनवेज खाने की सलाह दी जाती है। इसमें भी जानवरों के लीवर को अधिक महत्व दिया गया है।
क्योंकि एनिमल लीवर में अन्य खाद्य पदार्थों की अपेक्षा दस गुना अधिक जरूरी सभी पोषक तत्व और खनिज लवण होते हैं।
जो लोग नॉनवेज खाते हैं उन्हें कभी एनीमिया की शिकायत नहीं होती। और यदि होती है तो उन्हें चिकन लीवर या कॉर्ड लीवर का अधिक सेवन करना चाहिए।
{और पढ़ें : पेट कम करने का आसान तरीका}

9. शिलाजीत -

इसे आयुर्वेद में सभी पोषक तत्वों का भंडार माना जाता है। यदि आप शिलाजीत की हल्की मात्रा का सेवन पानी के साथ करते हो तो आपमें खून की कमी बहुत ही तीव्र गति से पूरी होती है।
और कुछ ही दिनों के सेवन से आपको अपने आप में असर दिखने लगता है।

10. खून बढ़ाने के लिए करे प्राणायाम -

यदि कोई भी व्यक्ति अपनी हर सुबह की शुरुआत योग और प्राणायाम से करता है तो उसमें कभी भी एनीमिया या खून की कमी जैसी कोई बीमारी ही पैदा नहीं होती।

अगर आप चाहते हो की बिना किसी नुस्खे और दवाओ के खून की कमी या एनीमिया को दूर किया जाए।
तो इस स्थति में आपके लिए हर रोज कपालभांति, अनुलोम विलोम और भस्त्रिका प्राणायम करना बेहद जरूरी है।
यदि आप इन तीनों प्राणायाम से अपने दिन या सुबह की शरुआत करते हो तो बहुत ही जल्दी आपको एनीमिया से छुटकारा मिल जाएगा।
{और पढ़ें : 
भस्त्रिका प्राणायाम करने का सही तरीका}
अनुलोम विलोम करे ऐसे}
कपालभांति करने का तरीका और फायदें}

खून की कमी या एनीमिया से बचाव -

  1. जितना हो सके उतना साधा भोजन करें,
  2. बाजारू तले गले खाने के पदार्थों से दूरी बनाए रखें।
  3. ठंडी व बासी खाने को न तो खाएं ना किसी को खाने दें।
  4. साथ ही फ्रिज आदि में रखे भोजन व पानी का प्रयोग ना करें।
  5. चाय व कॉफी का प्रयोग कम से कम या बिल्कुल भी ना करें।
  6. मैदे से बनी हर प्रकार की चीजों से हमेशा परहेज रखें।
  7. कोल्ड्रिंक्स, सॉफ्टड्रिंक्स और बाजार में मिलने वाले पैक पेय पदार्थों का इस्तेमाल कम से कम या बिल्कुल ना करें।
  8. चॉकलेट और अधिक शुगर वाले पदार्थों को अपने खाने योग्य पदार्थों में शामिल न करें।
  9. हरी पत्तेदार सब्जियों और फलों के ज्यूस का प्रयोग अपने भोजन में भरपूर करें।
  10. हमेशा फ्रेश और ताजा भोजन करें।
  11. साथ ही ताजे फलों व सब्जियों का प्रयोग करें।
ऊपर बताए गए नुस्खों में से आप किसी भी नुस्खे का प्रयोग कर सकते हो। ये सभी अपने आप में बेजोड़ नुस्खे हैं जिनका प्रयोग कर आप आसानी से खून की कमी या एनीमिया को दूर कर सकते हो।
{और पढ़ें : कब्ज का अचूक रामबाण इलाज}
यदि आप इस संदर्भ में बेहतर जानकारी रखते हो तो कृपया हमारे साथ जरूर साझा करें - khoon badhane ke upay, anemia in Hindi, khoon ki kami, anemia diet chart in hindi, khoon badhane wale fruits, 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें