चुकंदर के 15 फायदे इन हिंदी | Chukandar juice ke fayde.

(चुकंदर) chukandar ke fayde in hindi | Chukandar juice ke fayde - चुकंदर को बीटरूठ के नाम से भी जाना जाता है। आमतौर पर ज्यूस, सलाद और सब्जियों के रूप के इस्तेमाल की जाती है।
यह हमारे भोजन के रूप में इस्तेमाल की जाने वाली सब्जियों में से सबसे अधिक फायदेमंद है।
इसे पुराने समय से ही सलाद, ज्यूस और औषधीय रूप में इस्तेमाल किया जाता आ रहा है।
यह एक तरह का कंदमूल है। जिसका कंद जमीन के अंदर होता है।
अगर इसके गुणों की बात की जाए तो इसमें अनेकों ऐसे गुण मौजूद होते हैं जिनकी वजह से यह इतनी फायदेमंद है।
यह गुलाबी कर की होती है जिसमें हमे जरूरी सभी मिनरल्स जैसे -
आयरन, कैल्शियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम, सल्फर, आयोडीन आदि के साथ फाइबर भी भरपूर मात्रा में मिलते हैं। और विटामिन्स की बात करें तो इसमें विटामिन बी 1, विटामिन बी 2, विटामिन सी, और फोलिक एसिड के साथ भरपूर मात्रा में मिलते हैं।
(और पढ़ें: बवासीर का नया रामबाण इलाज)
चुकंदर के कंद के साथ साथ इसके पत्ते भी पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। जो एनीमिया जैसी अनेक बीमारियों में रामबाण औषधि के रूप में इस्तेमाल किए जाते हैं।
(चुकंदर) chukandar ke 15 fayde in hindi | Chukandar juice ke fayde
 इन सब के साथ ही चुकंदर में नाइट्रेट, ब्यूटेन, कोलीन जैसे तत्व भी प्रचुर मात्रा में होते है जो हमारे स्वास्थ्य के लिए अनेकों प्रकार से फायदेमंद हैं।

(चुकंदर) चुकंदर के 15 फायदे इन हिंदी  चुकंदर | ज्यूस के फायदे -

चुकदर हमारे लिए कई तरीके से फायदेमंद है। जिसके कारण इसे औषधीय रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है।
यह हमें अंदर और बाहर दोनों ही रूप में स्वस्थ बनाता है। आइए जानते है कि चुकंदर हमारे लिए किस प्रकार और किन किन स्थतियों में उपयोगी है।

खून की कमी के लिए -

जिन लोगों में खून की कमी है उनके लिए चुकंदर एक बहुत ही अच्छा आहार माना जाता है। इसमें पर्याप्त मात्रा में लौह तत्व मौजूद होते हैं। जो हमारे खून को तीव्र गति से बनने में मदद करते हैं।
लोगों में खून की कमी बहुत से कारणों की वजह से हो सकती है। इस कमी को पूरा करने के लिए उन्हें अक्सर चुकंदर का सेवन करने की सलाह दी जाती है।
चुकंदर का इस्तेमाल खून बढ़ाने के लिए आप ज्यूस के रूप में कर सकते हो। यह सबसे अच्छा तरीका है।
(और पढ़ें: 7 दिन में खून बढ़ाने का बेहतरीन उपाय)
इसके लिए आपको पत्तेदार ताजा चुकंदर का चुनाव करना है। ध्यान रहे आपको चुकंदर का ज्यूस उसके पत्तों सहित ही बनाना है।
ज्यूस तैयार होने के बाद आप इसमें आवश्यकता अनुसार शुगर, हल्का कालीमिर्च पाउडर और काला नमक डालकर पिएं।
ऐसा एक एक गिलास रोज सुबह खाली पेट और दोपहर के खाने के एक घंटा बाद करें।
चुकंदर को आप अपने भोजन में सलाद या हलवा बनाकर भी इस्तेमाल कर सकते हो। यह भी आपके लिए काफी फायदेमंद होगा।

गर्भावस्था में -

गर्भधारण के बाद अक्सर महिलाओं को अच्छे खानपान और पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। ताकि गर्भ में पल रहे बच्चे और खुद गर्भवती दोनों की सेहत अच्छी रह सके।
इसी लिए गर्भावस्था में उन्हें चुकंदर का ज्यूस पीने की सलाह दी जाती है।
क्योंकि इसमें वो सभी तत्व मौजूद होते हैं जो एक गर्भवती महिला की पोषण संबंधी कई जरूरतों को पूरा करता है।
(और पढ़ें: अनचाहे गर्भ से छुटकारा पाने का तरीका)
इसमें प्रचूर मात्रा में फोलिक एसिड और आयरन पाया जाता है जो महिलाओं को एनिमिया का शिकार होने से बचाता है।
साथ ही यह गर्भ के विकास में नहीं अपनी अहम भूमिका अदा करता है।
चुकंदर का रस तुरंत ऊर्जा देने वाला होता है अतः गर्भावस्था में उन्हें चुकंदर का रस जरूर पीना चाहिए।

हड्डियों के लिए -

अगर आपकी हड्डियां कमजोर हैं तो भी चुकंदर आपके लिए फायदेमंद है। इसमें कैल्शियम और फॉस्फोरस जैसे तत्व अधिकतम मात्रा में मौजूद होते हैं।
जो आपकी हड्डियों की सेहत को संभाले रखते हैं। इसके लिए आप चाहे तो हलवा बनाकर इसका नियमित रूप से सेवन कर सकते हो।
या फिर सलाद के रूप में भी के सकते हो। चुकंदर का हलवा बनाने के लिए आपको सबसे पहले कद्दूकस की मदद से इसे कस कर धोना होगा।
इसके बाद इसे हल्के से घी में सेंक लें और दूध पका कर इसमें डाल दें और हल्की आंच पर पकाएं।
जब यह धीरे धीरे गाढ़ा होने लग जाए तब इसमें शक्कर मिला दें।
(और पढ़ें: जोड़ों या घुटनों के दर्द का अचूक इलाज)
इसमें मौजूद दूध जब पूरी तरह सूख जाए तब इसे आग से उतरकर रख लें।
यह हलवा आप रोज अपने भोजन में लें, इससे आपकी हड्डियों से जुड़ी सारी परेशानियां धीरे धीरे खत्म होने लग जाएंगी।

त्वचा के लिए -

अगर आप चाहते हो की आपकी त्वचा हमेशा चमकदार, निखरी और हैल्थी रहे तो आपको चुकंदर का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।
क्योंकि इसमें फोलेट और फाइबर्स की भरमार होती है। जो आपकी त्वचा के निखार को बढ़ाने और सभी अशुद्धियों को दूर करने में एक बेहतरीन भूमिका अदा करते हैं।
यह आपकी त्वचा पर आए डार्कनेस को दूर करने के साथ साथ झुर्रियां, डलनेस, फीकी त्वचा और त्वचा के सूखेपन को दूर कर आपकी त्वचा को हैल्थी बनाने में आपकी बेहतर ढंग से मदद करती है।
चुकंदर एक ठंडी मिजाज का कंद है जो आपके चेहरे पर पेट की गर्मी के कारण पैदा हुए कील मुंहासों के लिए भी एक औषधि का काम करता है।
(और पढ़ें: त्वचा के निखार के लिए सब्जियां)
(और पढ़ें: कील मुहांसे का पक्का इलाज)
चेहरे पर चुकंदर का इस्तेमाल करने के लिए आप इसे उबालकर इसका लेप भी तैयार कर सकते हो।
साथ ही उबाले गए पानी में हल्दी मिलाकर लेप की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हो।
अच्छे परिणाम के लिए चुकंदर के ज्यूस का जरूर सेवन करें।
इसके नियमित इस्तेमाल से आपकी त्वचा में लालिमा का विकाश होता है।
साथ ही त्वचा में रक्त संचरण में वृद्धि होती है।

बालों के लिए -

चुकंदर में सिलिका के साथ अन्य पोषक तत्व भी पाए जाते हैं जो हमारे बालों कि सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं।
सिलिका की मौजूदगी के कारण यह हमारे बालों को अच्छे से पोषण देता है। और उन्हें घने और चमकदार बनाता है।
साथ ही यह डैंड्रफ को जड़ से खत्म कर सिर की त्वचा में नमी को बढ़ावा देता है।
बालों के लिए चुकंदर को उबाल कर इसे कुचल कर इसमें सिरका मिलाया जाता है, फिर इसका लेप सिर पर किया जाता है।
इससे सिर में ठंडक आती है और बालों को मजबूती मिलती है।

हाई बीपी के लिए -

बड़े हुए बीपी को नॉर्मल रखने के लिए अक्सर चुकंदर के ज्यूस की सलाह दी जाती है।
यह सही है कि अगर आपका ब्लड प्रेशर अधिक है तो आप चुकंदर का ज्यूस पिएं।
इससे आपका बीपी नॉर्मल रहता है और अच्छे से खून का परिवहन होता है।
लेकिन हमेशा ध्यान रखें कि कभी भी लो ब्लड प्रेशर वाले मरीज को इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
उच्च रक्तचाप में चुकंदर का ज्यूस बनाने के लिए इसमें काला नमक और काली मिर्च का पाउडर जरूर मिलाएं।
(और पढ़ें: हाई बीपी का इलाज)

कमजोरी के लिए -

जिन लोगों में कमजोरी की शिकायत होती है उनके लिए भी चुकंदर के इस्तेमाल की सलाह दी जाती है।
क्योंकि इसमें कई सारे पोषक तत्वों की मौजूदगी के कारण यह हमारे शरीर में खून की कमी को पूरा करती है।
और हमे एनीमिया, थकान और कमजोरी जैसी कई समस्याओं से लडने में मदद करती है।

हृदय रोगों में -

चुकंदर में पाए जाने वाले नाइट्रेट और ब्यूटेन नामक तत्व हमारे खून के जमाव और रक्त वाहिनियों के दबाव को कम कर हमे हाई बीपी और हार्ट अटेक जैसी समस्याओं से बचाता है।
इसके लिए हर रोज सुबह नाश्ते में चुकंदर का सलाद या ज्यूस का जरूर इस्तेमाल करें।

लीवर के लिए -

हमारे लीवर को हैल्थी और दुरुस्त बनाए रखने के लिए हमे रोज चुकंदर के ज्यूस का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए।
यह हमारे लीवर की शुद्धि के लिए अपनी अहम भूमिका अदा करती है।
(और पढ़ें: हेपेटाइटिस का इलाज)
चुकंदर का ज्यूस लगातार पीते रहने से हमारे लीवर की हर प्रकार की अशुद्धि दूर हो जाती है और वह एकदम चुस्त और दुरुस्त रहकर बेहतर ढंग से अपना काम करता है।

पाचन तंत्र के लिए -

फाइबर और बीटाइन नामक तत्व की प्रचूर मौजूदगी के कारण यह हमारे पाचन तंत्र के लिए भी बहुत ही बेहतर ढंग से कार्य करता है।
बीटाइन हमारे पाचन स्तर को सुधार कर हमे मोटापे, कब्ज और बवासीर जैसी अनेकों समस्याओं से बचाता है।
फाइबर की उपस्थिति से खाने के पाचन में हमारे पाचन तंत्र को ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ती तथा हमारी पाचन शक्ति दुरुस्त होती है।
(और पढ़ें: कब्ज का इलाज)

दिमाग की मजबूती के लिए -

कई बार हमारे मस्तिष्क में अच्छे से रक्तापूर्ती ना हो पाने की स्थति में हमारा मस्तिष्क कमजोर हो जाता है। चीजों को याद रखने उन्हें समझने में हमें बहुत अधिक परेशानी का सामना करना पड़ता है।
लेकिन चुकंदर से इसे आसान बनाया जा सकता है क्योंकि इसमें नाइट्रेट की प्रचुरता के कारण यह हमारे रक्त संचरण में वृद्धि करता है।
जिससे शरीर के सभी हिस्सों पूरी तरह रक्त का संचरण होता है।
इसमें कोलीन नामक तत्व की उपस्थिति के कारण यह हमारी स्मरण शक्ति में भी वृद्धि करता है।

कैंसर के लिए -

चुकंदर में बेटासायानिन नामक तत्व की अधिकता होती है। जो कैंसर कोशिकाओं से लडने में अपनी अहम भूमिका अदा करता है।
इसी के कारण चुकंदर का रंग हल्का सा भुरा और गहरा गुलाबी होता है।
बेटासायानिन की वजह से चिकित्सक अक्सर कैंसर के मरीजों को अधिक से अधिक चुकंदर का ज्यूस पीने की सलाह देते हैं।
इसमें आयरन की भरमार होती है, यह भी कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने का काम करता है।
इसमें आयरन की अधिकता के कारण यह हमारे शरीर में ऑक्सीजन की पूर्ति बेहतर बनाती है।
जिससे कैंसर कोशिकाओं को खत्म करने में काफी मदद मिलती है
(और पढ़ें: ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण, कारण और बचाव)
(और पढ़ें: लंग कैंसर के लक्षण, कारण और इलाज)

गुप्त रोगों में -

महिलाओं तथा पुरुषों में होने वाले गुप्त रोगों के लिए चुकंदर एक बेहतरीन औषधि की भांति अपना काम करती है।
जिन महिलाओं को पीरियड्स के दौरान बहुत अधिक परेशानियां झेलनी पड़ती है। उनके लिए यह बहुत ही अच्छी दवा है।
माहवारी के समय होने वाली तकलीफ, घबराहट, खून की कमी, अनियमितता आदि में इसके बहुत अच्छे रिजल्ट देखे गए हैं।
(और पढ़ें: श्वेत प्रदर का इलाज)
पुरुषों के लिए यह कामेच्छा बढ़ाने वाली और नपुंसकता खत्म करने वाली औषधि मानी जाती है।
पुराने जमाने से ही चुकंदर का प्रयोग लोग पुरुषों में होने वाले गुप्त रोगों के उपचार में करते आ रहे हैं।
चुकंदर में नाइट्रेट और बोरान नामक तत्व काफी प्रचूर मात्रा में पाए जाते हैं।
नाइट्रेट गुप्तांगों में रक्त के संचरण को बढ़ाता है, जिससे गुप्तांगों का काम सुचारू रहता है।
साथ ही बोरान हमारे अंदर सेक्स हार्मोन को बनाने के लिए काफी फायदेमंद होता है।

ऊर्जा प्रदान करने के लिए -

चुकंदर तुरंत ऊर्जा प्रदान करने वाला बहुत ही अच्छा स्रोत माना जाता है।
यह एथलीटों और एक्सरसाइज करने वाले लोगों में काफी लोकप्रिय है।
इसमें कार्बोहाइड्रेट की उपस्थिति के कारण यह शरीर में ऊर्जा का संचार करती है।

चुकंदर के नुकसान (chukandar/ chikandar juice ke nuksan) -

अनेकों तरह के पोषक तत्वों और मिनरल्स की उपस्थिति के कारण जिस प्रकार चुकंदर हमारे लिए फायदेमंद होता है। उसी प्रकार कई बार इनकी अधिकता के कारण हमें नुकसान भी झेलने पड़ सकते हैं।
  1. चुकंदर में मिनरल्स की अधिकता की वजह से इसका अधिक मात्रा में लगातार सेवन करते रहने से कई लोगों में इससे संबंधी बीमारियां होने का खतरा रहता है। 
  2. मिनरल्स की अधिकता हमारे यूरिनरी सिस्टम के लिए भी नुकसानदेह साबित हो सकती है। 
  3. कई बार लोगों को चुकंदर खाने पर सिर दर्द, जी मिचलाना, एलर्जी आदि की भी शिकायत रहती है। 
  4. लो बीपी के मरीजों के लिए भी चुकंदर नुकसानदेह हो सकती है। 
  5. डायबिटीज के रोगियों के लिए भी चुकंदर का इस्तेमाल सही नहीं माना जाता। इससे रक्त शर्करा में वृद्धि हो सकती है।
  6. मिनरल्स की अधिकता के कारण ये हमारे लीवर, पेनक्रियाज और किडनी में इकठ्ठे होकर हमे नुकसान पहुंचा सकते हैं।
Tags -
चुकंदर (chukandar), chukandar ke fayde, chukandar juice, chukandar ke labh,

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें