लिकोरिया का देसी इलाज इन हिंदी | Safed Pani Ka Ilaj Patanjali | Safed Pani Aane Ka Reason.

यदि आप खोज रहे हो लिकोरिया का देसी इलाज इन हिंदी, Safed Pani Ka Ilaj Patanjali, तो आप एक दम सही जगह पर हो क्योंकि यहाँ पर मिलेगा आपकी सभी समस्याओ का समाधान जैसे कि Safed Pani Aane Ka Reason, कैसे इससे बचाव हो, उस समय क्या खाएं क्या न खाएं सब कुछ जिसकी आपको आवश्यकता है।
लिकोरिया का देसी इलाज इन हिंदी | Safed Pani Ka Ilaj Patanjali | Safed Pani Aane Ka Reason.
ल्यूकोरिया एक ऐसी समस्या है जिसका समय पर ट्रीटमेंट ना किया जाये तो यह बढ़ती ही जाती है और जटिलता में बदल जाती है बहुत सी महिलाओ को तो यह पता भी नहीं होता की यह एक बिमारी है जो हमारे लिए अधिक नुकसानदेह हो सकती है इसीलिए बिमारी चाहे छोटी हो या बड़ी बिमारी बिमारी ही होती है और इसका एक बड़ा रूप भी होता है।

लिकोरिया का देसी इलाज इन हिंदी | Safed Pani Ka Ilaj Patanjali | Safed Pani Aane Ka Reason.

यदि हम बात करे लिकोरिया या ल्यूकोरिया की तो यह लगभग सभी महिलाओ में देखने को मिल जाता है जिसे अक्सर वे अनदेखा कर देती है लेकिन जब यह बदबूदार और कष्टदायी हो जाता है तब जाकर इसके बारे में सोचा जाता है लेकिन हम यहाँ आपको कुछ सरल से समाधान बताने वाले है जिनसे आप इस प्रकार की समस्या को आसानी से दूर कर सकते हो, ल्यूकोरिया के ट्रीटमेंट के बारे में जानने से पहले इसके कारक और इसके लक्षण के बारे में जानना बहुत ही जरुरी है ताकि इस समस्या से आसानी से बचा जा सके।
ल्यूकोरिया के लक्षण: leukorrhea symptoms in hindi.
सफ़ेद पानी या स्वेत प्रदर अथवा ल्यूकोरिया महिलाओ में होने वाली एक नार्मल कंडीशन है जिन स्त्रीओं व नयी उम्र की युवतियों में यह परेशानी हो जाती है इसके कारण इसके कारण उनकी पूरी बॉडी में वीकनेस आ जाती है, हाथ पैरों में  दर्द और अकड़न रहना, चिड़चिड़ापन, काम में मन नहीं लगता, गुप्त अंगो के आसपास एलर्जी जैसी होना, प्राइवेट पार्द से दुर्गन्ध आना, चक्कर आना और कमर की हड्डियों में अकड़न और दर्द आदि का होते रहना इस तरह के परेशानी होती है। {मुँह के छालों का पक्का इलाज}

ल्यूकोरिया के कारण: Safed Pani Aane Ka Reason.

  1. महिलाओं में पीरियड से पहले और बाद में स्राव होना नेचुरल सी एक्टिविटी होती है। इसके अलावा ओवुलेशन के समय पर भी प्राइवेट पार्ट से स्राव होता है वो इसीलिए कि ओवम को तैरकर जाने में मदद मिल सके।
  2. पीरियड्स के दौरान थोड़ा बहुत सफ़ेद प्रदर होता है, लेकिन जब यह प्रदर गाढ़ा नीला हो या फिर हरा अथवा पीले रंग का हो तो यह एब्नॉर्मल होता है और हम इसी को ल्यूकोरिया आने की समस्या या सफ़ेद प्रदर बोलते हैं।
  3. ल्यूकोरिया, सफ़ेद प्रदर, होने के कुछ और भी कारक हो सकते हैं जैसे, महिलाओं का बार बार गर्भपात कराना, इन्फेक्शन, प्राइवेट पार्ट की अच्छे स केयर नहीं कर पाने पर भी यह समस्या होना आम है।
  4. इसलिए आप जब भी यूरिन पास आउट के लिए जाएँ प्राइवेट पार्ट को यूरिन के बाद धोया जरूर करें, और नयी उम्र की लड़कियां रोमांटिक बोलचाल के कारण, अथवा एक्ससाइटिंग थिंकिंग से या ज़्यादा पोर्न देखने से भी ल्यूकोरिया की समस्या हो सकती है।
  5. कई बार ऐसा भी होता है की महिलाएं MT pills (गर्भ निवारक गोलियों) ज्यादा इस्तेमाल लेती है जो की बॉडी में बहुत अधिक गर्मी पैदा करती हैं यह भी एक बड़ा कारक हो सकता है ल्यूकोरिया के लिए अतः इस तरह की क्रिया से बचें।
  6. आमतौर पर कॉन्ट्रासेप्टिव्स का अधिक इस्तेमाल करना भी ल्यूकोरिया का कारण बन जाता है इसमें चाहे कंडोम्स हो या फिर कॉन्ट्रासेप्शन के लिए इंजेक्शन या गोलियां हो, अतः इन चीजों के अधिक प्रयोग से बचने की कोशिश करें। {कब्ज का अचूक इलाज}

लिकोरिया का देसी इलाज इन हिंदी | Safed Pani Ka Ilaj Patanjali.

ल्यूकोरिया होने पर आप कुछ होम रेमेडी के तौर पर भुने हुए चने रोज़ाना खाएं, यह एक सटीक ट्रीटमेंट है इससे कुछ ही दिनों में आपको स्वेत प्रदर आने की प्रक्रिया से छुटकारा मिल जायेगा।

लिकोरिया का देसी इलाज इन हिंदी -

  • लेडी फिंगर में कई तरह के मिनरल्स होते हैं और ल्यूकोरिया में यह बहुत बेस्ट होती है, इसके लिए आप लगभग 100g लेडी फिंगर को 1Lt. पानी में 20 मिनट तक बॉईल करे और जब यह ठण्डा हो जाये तो इसमें से अपनी क्षमता के मुताबिक पानी और शहद मिलाकर पिये, कुछ दिनों में आपका ल्यूकोरिया पूरी तरह ठीक हो जायेगा।
  • अमरुद के पत्ते लेकर पानी में अच्छी तरह से बॉईल करे और जब पानी ठंडा हो जाये तब उस पानी से अपनी प्राइवेट पार्ट को अच्छे से साफ़ करे, अगर संभव हो तो दिन में रुक रूककर 4 या 5 बार लगभग 4 से 6 दिनों तक प्रयोग करें। {पथरी का रामबाण इलाज}

स्वेत प्रदर रोकने के लिए फूड्स:

  • एक चम्मच प्याज के रस में एक चम्मच शहद पानी के साथ मिलाकर मॉर्निंग और इवनिंग दोनों टाइम पीने से बहुत जल्दी स्वेत प्रदर का आना ठीक हो जाता है।
  • केला: केला इस कंडीशन में बहुत ही ज़्यादा यूजफुल होता है इसके लिए आप एक केला लेकर इसको मक्खन के साथ या गाय के घी के साथ खाएं और दिन में 2  बार लें तो ल्यूकोरिया की कंडीशन बिलकुल ठीक हो जाएगी। {शुगर में क्या खाना चाहिए}
  • गूजबेरी: गूजबेरी पाउडर शहद के साथ मिलाकर खाने से ल्यूकोरिया में बहुत फायदा करता है, दिन में एक बार एक चम्मच गूजबेरी पाउडर शहद के साथ उतनी ही मात्रा में ले सकते हैं।
  • क्रैनबेरी: क्रैनबेरी एक छोटा मगर स्वादिष्ट फल है जिसका प्रयोग कई तरह की रेमेडी को तैयार करने में किया जाता है, क्योंकि क्रैनबेरी में एंटीवायरल, एंटीबैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट गुण भी प्रेजेंट होता है जो बॉडी को कई तरह के इन्फेक्शन से बचाता है, और ये महिलाओ के लिए बहुत ही खास है, क्योंकि ये ल्यूकोरिया से निजात दिलाने में बहुत ही असरदार है।
  • इस क्रैनबेरी को आप कच्चा भी खा सकते है, या फिर क्रैनबेरी का ज्यूस आपके लिए बहुत कम समय में ल्यूकोरिया की समस्या को दूर कर सकता है।
  • अंजीर: महिलाओं को सामान्यतया रजचक्र की समस्या से परेशान होना पड़ता है और ये समस्या बहुत ही दर्दनिय होती है, और स्वेत प्रदर आने से प्राइवेट पार्ट से बदबू  आना, उल्टिया होना, सिरदर्द, चिड़चिड़ापन भी ल्यूकोरिया के लक्षण है।
आप यदि स्वेत प्रदर का ट्रीटमेंट चाहती है, तो डेली आपको अंजीर का सेवन करना चाहिए क्योंकि अंजीर में कई सारे आयुर्वेदिक गुण पाए जाते हैं जो ल्यूकोरिया के लिए रामबाण की तरह काम करता है साथ ही यह आपकी शरीर को डिटॉक्स करने का काम करता है, और आपकी शरीर के प्राइवेट पार्ट में होने वाली खुजली और दूसरे घातक जीवाणुओं को शरीर से मिटाता है, और आपको हेल्थी बनाता है, इसलिए आप रात को सोने से पहले सूखे अंजीर को पानी में 7–8hr. के लिए छोड़ दें फिर इस भीगे हुई अंजीर का सेवन करें, आपको फायदा जरूर मिलेगा। {गठिया या जोड़ों के दर्द का पक्का इलाज}

मेंथी: 

मेंथी बहुत ही ज्यादा यूजफुल है, और मेथीदाने कई तरह की रेमेडी को तैयार करने में काम आता है, ये बहुत सरल सा इलाज है, इससे आप ल्यूकोरिया को ट्रीट कर सकती है, ये महिलाओं और लड़किओं की प्राइवेट पार्ट के PH लेवल को नार्मल रखने में मदद करता है।
जिससे की पीरियड्स सही समय पर आयें और ज्यादा दर्द भी न हो, आपको एक चम्मच मेथीदाने को पानी में भिगोना है फिर सुबह खाली पेट ही इनको शहद के साथ खांए, एक दो दिन में ही आपको इसका असर देखने को मिलेगा, और मेथीदाने आपके शरीर की प्रतिरक्षा को भी बूस्ट करता है। {जैतून के तेल के चमत्कारी फायदे}

अधिक स्राव से बचाव:

  1. प्राइवेट पार्ट को यूरिनेशन के बाद वाश करना न भूलें, और अपने अंडरवियर को क्लीन रखें, लम्बे समय तक गन्दे बने रहना भी इस डिजीज का मुख्य कारक हो सकता है, अधिक भूखा न रहें एक्साइटिंग वीडियो और फोटोज से दूर रहे।
  2. ल्यूकोरिया होने पर मीठी चीजों से बिल्कुल दूर रहे, ये कुछ बचाव है जो इस कंडीशन के दोहरान आपको ध्यान में रखनी है। {एड्स का पक्का इलाज}
  3. ऊपर हमने आपको कई सारे समाधान दिए है जो सभी अपने आप में श्रेष्ठ हैं जिनका इस्तेमाल कर आप आसानी से ल्यूकोरिया से छुटकारा पा सकती हैं।

1 टिप्पणी: