कील मुहांसों का पक्का इलाज | pimple kaise hataye | keel muhason ki dawa | pimples ka ilaj.

keel muhason ki dawa - यदि आप सर्च कर रहे हो कील मुहांसों का पक्का इलाज और उनसे बचने के तरीके तो आप निश्चित ही एक सही जगह पर पहुँच चुके हो, क्योकि यहाँ पर मिलेगा आपको आपकी हर समस्या का समाधान जैसे की - अपने चेहरे से pimple kaise hataye, कील मुहांसों का पक्का इलाज आदि।
कील मुहांसों का पक्का इलाज | pimple kaise hataye | keel muhason ki dawa | pimples ka ilaj.
दोस्तों एक्ने यानि की कील मुंहासे (pimples) एक तरह से हमारे चहरे की शोभा को बिगाड़ कर रख देते है, जो की हर किसी के लिए एक परेशानी होती है, कोई यह नहीं चाहता की अपना चेहरा भद्दा दिखे हर कोई निखरा और साफ़ चेहरा चाहते है, कील मुहांसों (एक्ने और पिम्पल्स) के निकलने के लिए बहुत सारे कारण जिम्मेदार हो सकते है, लगभग सभी महिला और पुरुषों को कभी कभी कील और मुहासें का सामना जरूर करना पड़ता है, क्योकि एक्ने और पिम्पल्स के  पैदा होने के कुछ नार्मल कारण है जो कभी कभी हर एक व्यक्ति में जरूर मिल जाते हैं। 
पिम्पल्स की बात करे तो ये भी एक्ने से ही पैदा होते हैं, क्योकि जब एक्ने निकलना शुरू होते है तो उन्हें दबा कर निकालने की कोशिश की जाती है जिस वजह से वहां पर वह एक्ने निशान छोड़ जाता है।
अतः एक्ने और पिम्पल्स से जुडी सभी समस्याओ का समाधान करने के लिए यह पोस्ट आपकी हर प्रकार से हेल्प करेगी यहाँ आपको हम इनके कारण, इनके लक्षण, इनका इलाज और इनके रोकथाम के तरीके बताएँगे जो आपके लिए सबसे असरदार और अचूक सिद्ध होंगे।

कील मुहांसों का पक्का इलाज | pimple kaise hataye | keel muhason ki dawa | pimples ka ilaj.

कील मुहांसों का कारण -

  1. कील मुहांसों (pimples) के कई सारे कारण जिम्मेदार हो सकते है जैसे की
  2. तरह तरह की केमिकल युक्त फेस वॉश और क्रीम्स का प्रयोग करना।
  3. शरीर में अधिक गर्मी होना खासकर पेट की गर्मी होना।
  4. किशोर अवस्था में आने पर body में कई तरह के हार्मोनल बदलाओ का आना। 
  5. शुरूआती दौर में कील मुहांसों से अधिक छेड़छाड़ करने पर इनका अधिक फ़ैल जाना।
  6. बाहर का स्पाइसी और तला भुना खाना ज्यादा खाना।
  7. शरीर में पानी की कमी होना।
  8. रक्त (blood) का ख़राब हो जाना जैसे और भी बहुत सारे कारण कील मुहांसों (एक्ने और पिम्पल्स) के लिए एक जिम्मेदार कारक की तरह हो सकते हैं।

कील मुहांसों के लक्षण: (Symptoms of acne and pimples in Hindi) –

  1. कील मुहांसे होने से पहले कुछ एक लक्षण दिखाई देते है जैसे की -
  2. चहरे सहित पीट और कन्धों पर हल्की हल्की फुंसियों का होना।
  3. चेहरे पर ऑइल ज्यादा निकलना।
  4. नाक पर रोम छिद्रों से ऑइल के साथ हल्की फुंसियां और सफ़ेद एक्ने जैसे पदार्थ का निकलना।
  5. चेहरे पर हल्की एलेर्जी होना। 
  6. इस प्रकार के लक्षण हमें एक्ने होने से पहले नजर आते हैं।

कील मुहांसों का पक्का इलाज | pimple kaise hataye | keel muhason ki dawa.

हमारे पास कील मुहासों के लिए कई तरह के घरेलु इलाज मौजूद हैं जिनमे से आप किसी का भी इस्तेमाल करके इस समस्या से आसानी से छुटकारा पा सकते हो, हमारे द्वारा बताये गए घरेलु इलाज (home remedy) इतने असरदार है की आपको पहले दिन से ही इनमे फर्क दिखने लगेगा।

हल्दी और दूध :

इस नुस्खे को तैयार करने के लिए आपको जरुरत होगी -
  1. 1/2 कप दूध - (milk)
  2. 1 चम्मच हल्दी पाउडर - (turmeric powder)
  3. 1 चम्मच बेसन - (Gram Flour)
  4. 2 चम्मच निम्बू का रस - (lemon)
  5. 1 छोटा टुकड़ा चन्दन का - (Chandan)
  6. 1 चम्मच संतरे के छिलके का पाउडर - (orange peel powder)
इन सभी चीजों की इस नुस्खे के अंदर आपको जरुरत होगी, तो इसे तैयार करने के लिए सबसे पहले बताये गए अनुपात में दूध (milk) लेना है जिसमे बेसन (gram flour) और हल्दी (turmeric) को मिला देना है, इसके 15 मिनट बाद इसमें चन्दर (chandan) के टुकड़े को पीस कर मिक्स कर देना है, इन तीनों को अच्छे से मिला देने के बाद इसमें संतरे के छिलके का पाउडर(orange peel powder) और निम्बू (lemon) का रस मिला देना है, इन सबको इस तरह मिलाने के बाद इसको इस तरह करना है की यह चहरे (face) पर आसानी से रुक सके याकि की यदि यह पेस्ट ज्यादा टाइट हो तो थोड़ा सा दूध (milk) मिला दें और पतला हो तो इसमें हल्दी या बेसन (gram flour) मिक्स कर दें और एक से दो घंटे के लिए इसे रखा रहने दें, इसके बाद जब भी इसे use करें तो उससे पहले अपने फेस को अच्छे से वॉश करे, ताकि जो भी धुल मिट्टी या ऑइल हो साफ हो जाये और रोम छिद्र साफ़ हो जाएँ। इसके बाद इसे हलके हलके हाथों से अपने फेस पर इस्तेमाल करें, ध्यान रहे पेस्ट हल्का गाड़ा होगा तभी यह चेहरे पर रुक पाएगा, और अगर आप इसे दिन की बजाय रात को सोने से पहले प्रयोग करते हो तो ज्यादा बेनेफिशियल रहेगा क्योकि रात के समय हमारी त्वचा दिन की बजाय ज्यादा अडोप्टिव होती है।
इस घरेलु उपाय को करने के बाद आपके चेहरे पर मौजूद हर तरह का धब्बा हल्का होने लगेगा सभी तरह की पहले दिन से ही आपको फर्क महसूस होने लगेगा।

नीम :

नीम का प्रयोग भी पुराने समय से ही हर तरह के इन्फेक्शन के लिए एक एंटी इन्फेक्शस एजेंट की तरह किया जा रहा है, चाहे वो बेक्टेरियल इन्फेक्शन हो या वायरल या फिर फंगल सब में यह एक प्रति कारक की तरह कार्य करती है कील मुहांसों (एक्ने और पिम्पल्स) के उपचार के लिए नीम के पत्तों को पीस कर इस्तेमाल किया जाता है, इसके लिए नीम के पत्तों को पानी में बारीक पीस कर एक पेस्ट तैयार कर चेहरे पर लगाया जाता है।

तुलसी :

तुलसी के पौधे को भारतीय संस्कृति में मां का दर्जा दिया जाता है क्योंकि तुलसी में अनेकों प्रकार के संक्रमण (infection)के प्रति प्रतिरक्षा ( antibody) होती है जो सभी तरह बेक्टेरियल, फंगल और वायरल इन्फेक्शन को आसानी से ख़त्म कर सकती है, इसको भी कील और मुहासों के लिए नीम की तरह ही पत्तियों को महीन पीस कर लेप बनाया जाता है।

कील मुहांसों से बचाव -

कील मुंहासे एक ऐसी समस्या है जो हमारे चहरे की त्वचा को प्रभावित करती है जिससे चेहरे की खूबसूरती ख़त्म हो जाती है अतः हो सके तो इनसे बचाव जरूर करना चाहिए -
  1. तरह तरह के केमिकल युक्त उत्पाद जैसे की फेस वाश, क्रीम्स आदि का इस्तेमाल ना करें।
  2. शरीर में गर्मी का स्तर ना बढ़ने दे इसके लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पिए, फ्रूट जूस आदि का इस्तेमाल  करें।
  3. रक्त (blood) साफ़ करने वाले फ्रूट्स वेजटेबल्स का सेवन ज्यादा करे।
  4. निम्बू पानी का सेवन करें।
  5. चहरे को ठन्डे पानी से दिन में 3-4 बार जरूर वॉश करें, साथ ही सोने से पहले फेस वॉश करना कभी ना भूलें।
  6. चेहरे पर ऑयल क्रीम्स की जगह गुलाब जल का प्रयोग करें।
  7. चेहरे पर दिन में एक से दो बार वर्फ की मसाज करें।
  8. बाहर का तला गला स्पाइसी खाना खाने से बचें।
  9. किसी भी प्रकार के धूम्रपान आदि से दूर रहें।
  10. इन सब बातों का ध्यान रखे और बताये गए नुस्खों का प्रयोग जरूर करे, आपको आपकी समस्या का 100% समाधान मिलेगा इसके लिए निश्चिन्त रहे।

1 टिप्पणी: