कब्ज का अचूक रामबाण इलाज | Home Remedy For Constipation In Hindi | Kabaz | Kabj Ke Upay.

Home Remedy For Constipation In Hindi {कब्ज का अचूक रामबाण इलाज} - यदि आप खोज रहे हो कब्ज के लिए आसान और असरदार घरेलु इलाज तो आप बिलकुल सही जगह पर हो क्योंकि यहाँ हम आपको बताएँगे 3 सबसे अच्छे और सबसे आसान घरेलु उपाय जो आपमें एक्यूट कॉन्स्टिपेशन हो या क्रोनिक कॉन्स्टिपेशन, किसी भी तरह की कब्ज हो उसे जड़ से ख़त्म करने की क्षमता रखते है।

कब्ज का अचूक रामबाण इलाज | Home Remedy For Constipation In Hindi | Kabaz | Kabj Ke Upay.

तो चलिए जानते है कॉन्स्टिपेशन या कब्ज होती क्या है, क्यों होती है, कैसे होती है, क्या इसका बचाव है और क्या घरेलु नुस्खे हैं जिनसे हम इसे ट्रीट कर सकते है।
कब्ज का अचूक रामबाण इलाज | Home Remedy For Constipation In Hindi | Kabaz | Kabj Ke Upay.
आज के समय में कब्ज (constipation) आमतौर पर सभी में देखने को मिल जाती है क्योंकि आज की (life style) जीवन शैली इतनी (busy) अस्त व्यस्त है की ना तो खाने का पता और ना ही जाने का पता, लोग अपने काम काज में इतने खोये रहते है की ठीक से ना तो सो पाते है और ना ही जग पाते है।
खाने पीने में भी दुनिया इतनी मॉडर्न हो चुकी है जो हर तरह की बिमारी को बुलावा देना जैसा हो गया है।
यहाँ हम आपको कुछ (home remedy) घरेलु उपाय बताएँगे जो आपकी कब्ज (constipation) को जड़ से ख़त्म करने की क्षमता रखते है साथ ही कुछ टिप्स है जिनसे आप कब्ज (constipation) की समस्या से हमेशा दूर रह सकते हो।

कब्ज के लक्षण -

कॉन्स्टिपेशन होने पर अक्सर पेट में ऐंठन होना, ठीक से पेट साफ ना होना, मल का कड़क हो जाना, मल त्यागने में परेशानी होना, खट्टी डकारें आना, मितली आना, मन ख़राब हो जाना, उलटी करने का मन करना, पेट का फूल जाना,  जैसी बहुत सारी समस्याओ का सामना करना पड़ता है।

कब्ज के कारण: (Kabaz) -

कॉन्स्टिपेशन के बहुत सारे कारण हो सकते है जैसे की -
  1. किसी बीमारी या मधुमेह का होना डायबिटीज के रोगियों में कब्ज (contipation) लगभग सभी में पायी जाती है क्योंकि इस कंडीशन में रोगी के ब्लड में शुगर की मात्रा अधिक होती है जिससे रोगी को बार बार यूरिन के लिए जाना पड़ता है इससे शरीर में पानी की कमी हो जाती है जो की कब्ज का असली कारण है।
  2. कब्ज अक्सर उन लोगों में देखने को मिलती है जिनकी डेली लाइफ एक्टिविटीज अस्त व्यस्त होती है, जिनका कोई टाइम टेबल नहीं होता, जो लोग टाइम पर नही सोते और ना ही टाइम पर उठते, उनमें यह कंडीशन जरूर मिलती है।
  3. ज्यादा स्पाइसी खाना खाने वाले लोगों में कॉन्स्टिपेशन की कंडीशन आम समस्या होती है।
  4. इन सब के आलावा डेली एक्टिविटी में चेंज की वजह से भी कब्ज हो सकती है।
  5. पानी कम पीने से भी इस कंडीशन का सामना करना पड़ता है।
  6. हमेशा बैठे रहने वाले लोगों में और ऑफिस वर्क करने वालों में यह समस्या ज्यादा देखने को मिलती है।

कब्ज का घरेलु उपाय: Home Remedy For Constipation In Hindi -

कब्ज के घरेलू इलाज के लिए आपको चाहिए होंगे जीरा, हल्दी, अजवाइन, खड़ा धनिया, काला नमक, सोंठ और पुदीना, इस नुस्खे को तैयार करने के लिए सबसे पहले आपको 2 बड़ा चम्मच जीरा और 2 बड़ा चम्मच अजवायन को हल्की आंच पर 1 से 2 मिनट के लिए पकाना है हल्का पकने के बाद इसमें एक बड़ा चम्मच खड़ा धनिया मिक्स करना है और इसे फिर हल्की आंच पर 1 से 2 मिनट के लिए पकाना है जब यह अच्छे से पक जाए तो इसे ठंडा करके मिक्सी में चला लें और बारीक पाउडर तैयार कर लें, इसके बाद इसमें एक चम्मच काला नमक, आधा चम्मच हल्दी, पिसी हुई सोंठ और एक चम्मच पुदीने का पाउडर अच्छे से मिक्स कर लें।
यह आपका रात के समय लिए जाने वाली सबसे बेहतरीन रेमेडी तैयार है इसे लेने के लिए डिनर के एक घंटे बाद का समय उचित रहता है क्योंकि इसमें मौजूद जीरा और अजवाइन हमारे द्वारा खाये गए भोजन को अच्छे से डाइजेस्ट करने का काम करती हैं।

पुदीना -

पुदीना हमारे पेट को ठंडक पहुंचता है और ये सब एक साथ मिलकर डाइजेस्टिव को सुचारु करती है और जरुरी सभी तत्वों को शरीर के सभी पार्ट्स तक पहुंचती हैं।
इस तैयार पाउडर को लेने के लिए इसमें से एक चम्मच पाउडर गर्म पानी में डाल कर ठंडा होने के लिए रख दे और जब यह हल्का गुनगुना रह जाये तब इसे पी ले।
इस नुस्खे के इस्तेमाल से आपका पेट खुलकर साफ़ होता है और आप हल्का महसूस करते हो भूख भी खुलकर लगना स्टार्ट हो जाती है, यह इतना इफेक्टिव है की इसके पहले इस्तेमाल से ही आपको पूरा आराम मिलेगा।

त्रिफला -

इसके आलावा त्रिफ़ला पाउडर भी इस समस्या का रामबाण इलाज है पुराने समय में त्रिफ़ला को पेट से सम्बंधित सभी तरह रोगो में काम लिया जाता था चाहे ओबेसिटी हो या लिवर पैन सभी में यह एक क्लीनर की तरह वर्क करता है अतः आप त्रिफ़ला पाउडर का भी प्रयोग करके इस कंडीशन से हमेशा के लिए निजात पा सकते हो।

अरंडी का तेल -

इसके आलावा एक और नुस्खा है जिसका प्रयोग सुबह के समय पर ही किया जाता है और वह इतना असरदार है की 15 से 20 मिनट में ही आपको असर दिखना स्टार्ट हो जाता है।
इसे बनाने के लिए आपको अरंडी के तेल की जरुरत होगी एक चम्मच अरंडी के तेल में एक चम्मच निम्बू का रस मिला ले और इसे सुबह खाली पेट एक गिलास पानी के साथ पिने से आपका पेट अच्छे से साफ होता है और आप अपने आपको हल्का महसूस करते हो।
यहाँ एक बात का ध्यान रखे बताये गए तीनों नुस्खों में से एक बार में किसी एक का ही इस्तेमाल करें यानि अगर आप पावडर तैयार करते हो तो आपको त्रिफला और कैस्टर आयल की जरुरत नहीं है।
और यदि आप और किसी भी बिमारी की मेडिसिन खा रहे हो तो उसके एक से दो घंटे बाद ही इसका प्रयोग करें।
इसके आलावा आप पेट साफ़ करने की किसी भी मेडिसिन का इस्तेमाल कंटिन्यू ना करे इससे आपकी इंटेस्टाइन कमजोर हो जाती है, और शरीर में भी वीकनेस आ जाती है अतः इस बात का विशेष ध्यान रखें।

कब्ज के लिए जरुरी बातें: (Kabaz | Kabj Ke Upay)

यदि आप अपनी डेली लाइफ में कुछ सिंपल से नियमो का पालन करते हो तो आपको किसी भी प्रकार के नुस्खे की जरुरत नहीं पड़ेगी जैसे की -
  1. पानी ज्यादा से ज्यादा पियें क्योंकि पानी की कमी से ही कॉन्स्टिपेशन की शुरुआत होती है जिससे ये तमाम कंडीशन्स पैदा होती हैं।
  2. फाइबर वाले खाने का ज्यादा प्रयोग करें खासकर नाईट के खाने में।
  3. पपीता एक तरह से आपके लिए क्लीनर का काम करेगा इसे अपने सलाद या भोजन में जरूर शामिल करें
  4. जंक फूड्स और स्पाइसी खाना खाने से बचें या कम से कम ही खाएं।
  5. टाइम पर सोएं और टाइम पर खाना खाएं और खाने में लिक्विड्स का ज्यादा इस्तेमाल करे।
  6. हमेशा गरमा गर्म खाना खाने से बचें.खाना चबा चबा कर और धीरे धीरे खाएं।
  7. अदि आप इन आसान टिप्स का इस्तेमाल करते हो तो यकीन मानिये आपको किसी भी प्रकार की मेडिसिन और औसधि की जरुरत नहीं पड़ेगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें