पथरी का इलाज | kidney stone in hindi | kidney stone diet in hindi | pathri ka ayurvedic ilaj.

पथरी का इलाज - यदि आप देखना चाहते हो, kidney stone in hindi, पथरी का आयुर्वेदिक इलाज, तो फिर आपका हेल्थ लाइफेक्स में स्वागत है क्योंकि यहाँ पर हम बता रहे है - पथरी का इलाज और भी बहुत कुछ, तो बने रहिये हमारे साथ और दीजिये किडनी स्टोन को मात -

पथरी का इलाज | kidney stone in hindi | kidney stone diet in hindi | pathri ka ayurvedic ilaj.

किडनी स्टोन एक ऐसी प्रॉब्लम है जो सभी में होती है, लेकिन फर्क सिर्फ इतना है कि ज्यादातर लोगों में यह स्टोन यूरिन के साथ निकल जाता है और कुछ लोगो में यह धीरे धीरे जमा होने लग जाता है।
पथरी का इलाज | kidney stone in hindi | kidney stone diet in hindi | pathri ka ayurvedic ilaj.
Kidney stone.

असल में यह एक तरह का वेस्ट प्रोडक्ट होता है जो ब्लड के फिल्ट्रेशन के कारण बनता है, यह जन्म से ही होता है क्योंकि जब तक हमारे ब्लड के फिल्ट्रेशन की प्रोसेस होती है तब तक यह वेस्ट प्रोडक्ट हमारे अंदर बनता रहता है और ब्लड फिल्ट्रेशन की प्रोसेस हमारे जन्म से लेकर हमारी मृत्यु तक चलती है यदि किसी व्यक्ति में एक बार यह वेस्ट जमा होने लग जाता है तो यह प्रोसेस बार बार होती है, और जब इस पर ध्यान नहीं दिया जाता तो यह अपनी जगह पर इन्फेक्शन फ़ैलाने लग जाता है।
जब धीरे धीरे यह वेस्ट अपनी जगह पर इकठ्ठा होने लगता है तो दिनों दिन कठोर और साइज में बड़ा होने लग जाता है इस वजह से किडनी के उस भाग में असहनीय दर्द होने लगता है जब तक इसकी साइज छोटी होती है तब इसे वाटर थेरेपी की मदद से निकाला जा सकता है लेकिन साइज में बड़ा हो जाने पर इसे सर्जरी करवाकर ही निकाला जा सकता है। {हमेशा स्वास्थ्य रहने के लिए जरुरी सलाह}

पथरी के लक्षण और आयुर्वेदिक उपचार -

पथरी (किडनी स्टोन) की समस्या होने पर जिस पार्ट में यह होती है वहां असहनीय दर्द का सामना करना पड़ता है पथरी (किडनी स्टोन) हमेशा पित्त की थैली और यूरिनरी सिस्टम (urinary system) में ही पायी जाती है जिसमे मूत्राशय (bladder) मूत्रवाहिनी (ureter) दांये और बांये गुर्दे। (right and left kidney)
जब इसका साइज बड़ा होने लगता है तो यह दर्द करने लग जाती है इसका दर्द लगातार ना होकर अचानक से होता है और कुछ देर में शांत हो जाता है कई कई बार तो यूरिन में भी परेशानी खड़ी हो जाती है, जब इसका साइज बढ़ता है  तो यह इन्फेक्शन करना भी स्टार्ट कर देती है जिससे तख़लीफ़ और अधिक बढ़ जाती हैं, पथरी के दर्द की वजह से कई बार उल्टियां आना, (vomiting) सर दर्द रहना (headche) मूत्र में जलन (dysuria) यूरिन रुक रुक कर आना, अचानक पेट के दांये और बांये भाग में दर्द होना पेट के निचले हिस्से में दर्द रहना (abdominal pain) जैसे कई सारे लक्षण दिखाई देते है। {हमेशा जवानी बरकरार रखने का तरीका}

किडनी स्टोन के कारण: Cause of kidney stone in hindi -

पथरी (kidney stone) वैसे तो हर इंसान के अंदर बनती है लेकिन ज्यादातर लोगों में यह मूत्र (urine) के दौहरान निकल जाती है और से लोगों में नहीं निकल पाती इसके कई कारण है। जैसे की

अनुवांशिकता -

गुर्दे की पथरी कैल्शियम और साल्ट की बनी होती है जिसका संचार पीढ़ी दर पीढ़ी होता है अतः अनुवांशिकता के कारण भी यदि आपके माता पिता के पथरी है तो आप के भी हो सकती है।

भौगोलिक -

भौगोलिक परिस्थति भी लोगों में पथरी (kidney stone) बनने का एक बड़ा कारक हो सकती है गर्म जलवायु वाले क्षेत्रो में इस तरह की समस्या से पीड़ित लोगों की संख्या ज्यादा मिलती है।
  1. बॉडी में पानी की पूर्ती ठीक से ना हो पाना
  2. मधुमेह (diabetes) और मोटापे (obesity) जैसी कंडीशन का होना। 
  3. धुल मिट्टी वाला काम करना। {फ़ेफ़डों के कैंसर का आयुर्वेदिक उपचार}
  4. समय पर खाना ना खाना और समय पर न सोना।
  5. हमेशा कॉन्स्टिपेशन आदि की शिकायत रहना।
  6. मेडिसिन्स का ज्यादा सेवन करना।
  7. अपने भोजन में मिनरल का ज्यादा इस्तेमाल करना।
  8. तरल पदार्थों (liquids) का बहुत कम सेवन करना आदि पथरी (kidney stone) के लिए बड़े कारक हो सकते है।

पथरी का इलाज - pathri ka ayurvedic ilaj - kidney stone diet in hindi -

इसी क्रम में हम आपके लिए एक ऐसी औसधि लेकर आये है जिसका उपयोग करके आप आसानी से किडनी स्टोन कि समस्या से छुटकारा पा सकते हो, इसके लिए आपके एक होम मेड सोल्यूशन दिया जा रहा है इसे तैयार करके, नियमो का पालन करते हुए नियमित रूप से अपनी डेली एक्टिविटी में इसे शामिल करें और किडनी स्टोन को हमेशा के लिए बाय बाय कह दें, क्योंकि यह औसधि या घरेलु नुस्खा इतना इफेक्टिव है कि यह पहले दिन से ही किडनी स्टोन को गलना स्टार्ट कर देता है, और धीरे धीरे सारे वेस्ट को गला कर बाहर निकाल देता है, बस इसके लिए बताये गए पथ्य अपथयों का कठोरता से पालन करना होता है। {गुड़हल के फूलों का चमत्कारी तेल ऐसे बनाये}
किडनी स्टोन को गला कर निकाल फेकने वाले इस रामबाण घरेलु उपाय को इस्तेमाल जरूर कीजिये और महँगी मेडिसिन और सर्जरी से बचिए।
इसके लिए आपको कुछ चीजों की आवश्यकता होगी जैसे की -
  1. कुल्थी की दाल,
  2. मक्का के बाल,
  3. हिंगोट का फल,
  4. बिजोरा निम्बू
स्टोन को जड़ से ख़त्म करने के लिए इस होम मेड सोल्यूशन को तैयार करना होगा, और इस सोल्यूशन को तैयार करने के लिए इन सभी चीजों की आवश्यकता होगी।

कुल्थी की दाल :

कुल्थी की दाल एक ऐसी औसधि है जो आपके अंदर किडनी स्टोन की समस्या को आसानी से जड़ से ख़त्म कर सकती है, और हाँ यदि आप हफ्ते में सिर्फ एक बार भी इसकी दाल बनाकर खाते हो तो स्टोन जैसी समस्याएं आपको कभी छू भी नहीं पायेगी हैं, कुल्थी की दाल को पका कर खाया जा सकता है और यदि इस दाल का इस्तेमाल इस नुस्खे के साथ किया जाये तो इसका असर दो गुना हो जाता है, बताई गई दाल में इसका पानी अहम् होता है दाल पतली बनाए या इसका सूप तैयार करके उपयोग में लें, यह हर तरह से बेनेफिशियल होती है। {आर्थराइटिस या घुटनों के दर्द का पक्का इलाज}

बिजोरा निम्बू :

बिजोरा निम्बू को लोग ज्यादातर औषधियों के रूप में ही काम में लेते है यह अनेक रोगों के लिए रामबाण औसधि का काम करता है, बिजोरा निम्बू को उपयोग में लेने के लिए इसको सुखा कर इसका पाउडर तैयार किया जाता है जो किडनी स्टोन के साथ अनेक रोगों में फायदेमंद होता है, यह स्टोन को गलाने का काम करता है और जब इसे इस घरेलु उपाय में शामिल किया जाता है तो इसका असर कई गुना बढ़ जाता है, आयुर्वेदिक स्टोर से इसका तैयार पाउडर भी ख़रीदा जा सकता है।

मक्का के बाल और हिंगोट का फल :

मक्का के बाल और हिंगोट के फल को विशेष रूप से किडनी स्टोन या पथरी को गलाने के लिए ही प्रयोग किया जाता है, इन दोनों को एक विशेष अनुपात में लेकर एक पेय तैयार किया जाता है जो पथरी या किडनी स्टोन के लिए एक अचूक और कारगर औसधि है
तो चलिए अब इन सब को एक साथ लेकर एक सोल्यूशन तैयार करते है और किडनी स्टोन रिमूवल ट्रीटमेंट स्टार्ट करते है। {जैतून के तेल के जबरदस्त फायदे}

विधि :

इस सलूशन को तैयार करने के लिए सबसे पहले जरूत है बिजोरा निम्बुओं के पाउडर की तो 2kg बिजोरा निम्बु काट कर इन्हे छाया में सुखा कर बारीक़ पीस कर पाउडर तैयार कर लें, इसका पाउडर तैयार करने के बाद किसी जार में भर कर रख लें, इसके बाद 1 लीटर पानी बॉईल कर लें और इसमें 50 ग्राम मक्का के बाल डाल दें, इसके बाद इसमें 5 हिंगोट के फलों का छिलका उतार कर उन्हें कूट कर मिला दें, इसके बाद इसमें 2 बड़ी चम्मच बिजोरा निम्बू का पाउडर मिक्स कर दें और कुछ देर बॉईल होने के लिए छोड़ दें। अच्छे से बॉईल हो जाने के बाद इस पेय पदार्थ को ठंडा करके किसी जार में भर कर रख दें।
अब आपके पास दो चीजें है, एक तो कुल्थी की दाल और एक यह पेय औसधि (remedy)जो हमने तैयार की है इसे इस्तेमाल करने के लिए पेट का खाली होना उत्तम होता है, तो सुबह के समय और शाम के समय 1 कप की मात्रा में खाली पेट इस्तेमाल करेंं साथ ही डेली खाने में कुल्थी की ही दाल का इस्तेमाल करेंं कुल्थी की दाल खाने के साथ साथ इसका सूप बनाकर भी उपयोग करेंं और पथरी (kidney stone) निकल जाने के बाद भी यदि हफ्ते में एक बार कुल्थी की दाल और सूप लेते हो तो आगे से आपको कभी भी यह समस्या नही होगी। {कब्ज का अचूक रामबाण इलाज}

किडनी स्टोन के बचाव: kidney stone in hindi -

  • उन चीजों का उपयोग ना करें जिनमे आयरन की मात्रा अधिक होती है, जैसे की वे फल और सब्जियां जिनको काटकर रखने पर काली पड़ जाती है जैसे बैंगन और सेब पालक आदि।
  • चांवल और इससे बनी और भी चीजों का उपयोग बिलकुल ना करें।
  • ज्यादा से ज्यादा पानी पियें।
  • अपने भोजन में ज्यादा से ज्यादा पेय पदार्थों (liquid)का सेवन करें।
  • उन चीजों को अपने खान पान में ऐड करें जिनसे यूरिन ज्यादा बनता है।
  • बाहर के खाने से हमेशा परहेज रखें।
  • तली गली और मिर्च मसाले (spicy) चीजों से हमेशा दूरी बनाए रखें।
बस ये समझ लीजिए जितना यूरिन पास आउट होगा पथरी की साइज धीरे धीरे कम होती जाएगी, यदि पथरी या किडनी स्टोन की साइज ज्यादा बड़ी हुई है और यह दर्दनाक स्थति में है तो पथरी को सर्जरी करवा कर ही निकलवा लेना उचित होता है नहीं तो संक्रमण (infection) बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है और गम्भीर स्थति भी पैदा हो सकती है। {मुँह के छालों का रामबाण इलाज}

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें